मुंबई जे जे अस्पताल के डॉक्टर अजय भंडारवार का sogai पुरस्कार से सन्मान

एक 22 साल की युवति पर जे जे अस्पताल के डॉक्टर अजय भंड़ारवार ने काफी जटील सर्ज़री की थी.जिसे ऊन्होंने काफी गहराई से सफल किया.उस पीड़ित युवती के शरीर में के छोटी अंतड़ी में कुल 42 गाँठ थी .जिसे किसि भी तरहा का धक्का ना पहुँचाते हूए आहिस्ता आहिस्ता आधुनिक सामग्री की मदत से इंट्रां ओपरेटिव्ह पोलिपेक्टोमी पद्धतिसे सर्ज़री कर डॉक्टर अजय भंड़ारवार जी ने बाहर निकाली.इसी दुर्लभ आउट जटील शस्त्रक्रिया के सफलता के कारण डॉक्टर अजय भंडारवार और उनकी टीम का सोसायटी off घ्यास्ट्रोइंटेस्टिनल ( gastrointestinal ) and endoscopic सर्जन्स नामक संस्था के जरिए सन्मान किया गया हैं.डॉक्टर अजय भंड़ारवार जे जे अस्पताल के सर्ज़री विभाग के प्रमुख है.इस जटिल शस्रक्रिया में डॉ.गिरीश बक्षी ,डॉ.उमंग शांडिल्य,डॉ.आर आर कुलकर्णी,डॉ.ने राठोड़,डॉ.शिवांग शुक्ला.डॉ.अमोल वाग,डॉ.निदिशा सिधवानी,डॉ.सौम्या चतनालकर ,डॉ.शेखर जाधव.डॉ.रुचिरा अरोरा,डॉ.अमरजीत तंदूर,और डॉ.प्रियंका साहा का समावेश था.ज्ञात हो के हाल ही में एक जलसे में इसी सर जे जे अस्पताल को सेजेस पुरस्कार से नवाजा गया था.जे जे अस्पताल को सेजेस पुरस्कार से 4 थी मर्तबा सन्मानित किया गया है .

Leave a Reply

Your email address will not be published.