कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच चल रहे विवाद के बीच, उद्धव ठाकरे बोले खामोशी को न समझें मेरी कमजोरी

मुंबई। कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार के बीच चल रहे विवाद के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) रविवार को जनता के सामने आए। उद्धव ठाकरे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जनता को संबोधित किया। हालांकि उन्होंने कंगना विवाद पर अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी।

ठाकरे ने कहा कि फिलहाल मैं राजनीति पर बात नहीं करना चाहूंगा, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि मेरे पास जवाब नहीं है। महाराष्ट्र को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है, इसलिए मैं महाराष्ट्र की बदनामी पर बात करूंगा। ठाकरे ने कंगना का नाम तो नहीं लिया, लेकिन साफ कहा कि उनकी खामोशी को कमजोरी न समझा जाए। उन्होंने कहा कि राजनीतिक साइक्लोन आते रहेंगे और वो उनका सामना करते रहेंगे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता ने लॉकडाउन के नियमों का पालन किया है।

हालांकि अभी कोरोना का संकट का खत्म नहीं हुआ है। सरकार की तरफ से सामान्य जीवन को पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि लोगों ने इस दौरान संयम दिखाया है और राज्य सरकार का भरपूर साथ दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.