राज ठाकरे की अयोध्या यात्रा से पहले मुंबई में लगे पोस्टर, पूरे महाराष्ट्र में होगी बगावत…

राज ठाकरे की अयोध्या यात्रा से पहले मुंबई में लगे पोस्टर, पूरे महाराष्ट्र में होगी बगावत…

Rokthok Lekhani

मुंबई: वह राम मंदिर के निर्माण की देखरेख के लिए जाएंगे। वह यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मिलना चाहते हैं। राज ठाकरे ने योगी की धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए प्रशंसा की थी। राज ठाकरे के अयोध्या दौरे पर विरोध के बीच उनकी पार्टी मनसे ने बड़ी चेतावनी जारी की है। मनसे ने गुरुवार को चेतावनी जारी की कि अगर किसी ने उनके नेता को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की तो पूरे महाराष्ट्र में बगावत होगी। इस चेतावनी के पोस्टर मुंबई के लालबाग इलाके में देखे गए हैं। समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा साझा किए गए पोस्टर में लिखा है, ‘अगर कोई राज ठाकरे को चोट पहुंचाने की कोशिश की गई तो फिर पूरे महाराष्ट्र में बगावत होगी।’

पोस्टर पर न तो राज ठाकरे और न ही मनसे ने कोई प्रतिक्रिया दी है। राज ठाकरे पिछले दिनों मस्जिदों में अजान के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले लाउडस्पीकर को लेकर राज्य सरकार पर जमकर बरस रहे हैं। उनके जून में अयोध्या आने की उम्मीद है।
पहले की रिपोर्टों में दावा किया गया था कि वह राम मंदिर के निर्माण की देखरेख के लिए जाएंगे। वह यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मिलना चाहते हैं। राज ठाकरे ने योगी की धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए प्रशंसा की थी। मनसे ने ट्रेन और होटल बुक कर ठाकरे की अयोध्या रैली की तैयारी शुरू कर दी है।

हालांकि, मंदिर शहर में राज ठाकरे की यात्रा पर से पहले कई नेताओं ने उनसे उत्तर भारतीयों से माफी मांगने को कहा है। अयोध्या के एक शीर्ष संत महंत कमल नयन दास ने कहा, “राज ठाकरे को अयोध्या आने से पहले उत्तर भारतीयों से माफी मांगनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि किसी को भी दूसरों की भावनाओं को आहत करने का अधिकार नहीं है।

केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई-ए) के प्रमुख रामदास अठावले ने महराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे से अगले महीने उत्तर प्रदेश में अयोध्या जाने से पहले उत्तर भारतीयों से माफी मांगने को कहा है। अठावले ने कहा ‘अयोध्या जाने से पहले राज ठाकरे को उत्तर भारतीयों से माफी मांगनी चाहिए।’ आरपीआई (ए) नेता ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र को ‘‘ब्राह्मण मुख्यमंत्री’’ की जरूरत है। उन्होंने दावा किया कि (भाजपा के वरिष्ठ नेता) देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री पद के लिए सही विकल्प हैं।

अठावले से पहले हाल ही में भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने भी पांच जून को राज ठाकरे की प्रस्तावित अयोध्या यात्रा का विरोध किया और चेतावनी दी कि जब तक वह उत्तर भारतीयों को ‘‘अपमानित’’ करने के लिए सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगेंगे, तब तक उन्हें उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

मनसे ने ‘मराठी मानुस’ का समर्थन करते हुए 2008 में एक आंदोलन शुरू किया था, जिस दौरान रेलवे परीक्षा देने के लिए मुंबई के कल्याण पहुंचे उत्तर भारत के उम्मीदवारों के साथ कथित तौर पर मारपीट की गई थी। पिछले महीने राज ठाकरे ने मांग की कि महाराष्ट्र में मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटा दिए जाएं। उनके इस रुख का राज्य के मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने समर्थन किया था।


Tags:
Join Us on Dailyhunt
Follow us on Daily Hunt
Follow Us on Google News
Follow us on Google News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

पात्रा चॉल जमीन मामले में संजय राउत को 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया पात्रा चॉल जमीन मामले में संजय राउत को 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया
पात्रा चॉल जमीन मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है ।...
अँधेरी के सरीपुत नगर से मरोल नाका तक के ३ किमी रूट पर भूमिगत मेट्रो
मुंबई के रे रोड पर स्लम एरिया में लगी आग, सिलिंडर फटने से हुई घटना...
उर्फी जावेद के कपड़ों पर चाहत खन्ना ने क्यों किया था ऐसा कमेंट...
IMF के द्वार पहुंची बांग्लादेश सरकार, मुल्क में बड़े आर्थिक संकट की आहट...
पीएम मोदी ने मुलाकात के बाद बोले मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, राज्य की परियोजनाओं को मिलेगी शीघ्र मंजूरी...
धन शोधन के एक मामले में आज अदालत में होगी संजय राउत की पेशी...

Join Us on Social Media

Videos