मुंबई में स्वाइन फ्लू के मामलों ने बढ़ाई चिंता, एक्सपर्ट्स ने दी ये चेतावनी...

Swine flu cases in Mumbai raised concern, experts gave this warning...

मुंबई में स्वाइन फ्लू के मामलों ने बढ़ाई चिंता, एक्सपर्ट्स ने दी ये चेतावनी...

मुंबई : देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना के बाद अब स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामले लोगों को खौफजदा कर रहे हैं. बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक शहर में इस महीने अब तक स्वाइन फ्लू के 11 मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं डॉक्टरों का कहना है कि बीएमसी के दावा सटीक नहीं है क्योंकि हर रोज 1-2 मामले सामने आ रहे हैं.

गौरतलब है कि इन्फ्लूएंजा एच1एन1 से संक्रमित कम से कम चार मरीज शहर में लाइफ सपोर्ट पर हैं. वहीं डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि वायरल संक्रमण शहर में फिर से पांव पसार रहा है और जिन लोगों का कोविड -19 टेस्ट निगेटिव आ रहा है उनका एच 1 एन 1 टेस्ट किया जाना चाहिए.

डॉक्टरों के मुताबिक ज्यादा मामले इसलिए दर्ज नहीं हो पा रहे हैं क्योंकि इस बीमारी के लक्षण कोविड -19 के समान हैं, इसलिए कोरोनावायरस का निगेटिव टेस्ट आने पर लोग इसे सामान्य वायरल मानते हैं. वहीं महंगे टेस्ट भी स्वाइन फ्लू के मामलों की सटीक रिपोर्टिंग के रास्ते में रोड़ा बन रहे हैं. गौरतलब है कि स्वाइन फ्लू भी कोविड-19 की तरह एक सांस की बीमारी है. यह 2019 में एक वैश्विक महामारी के रूप में शुरू हुई थी लेकिन जल्द ही इस पर काबू पा लिया गया था.

स्वाइन फ्लू एच1एन1 वायरस के कारण होता है.

सबसे पहले, H1N1 टाइप ए इन्फ्लुएंजा पैदा करने वाला वायरस विशेष रूप से सूअरों में पाया गया था, लेकिन फिर इसने इंसानों म्यूटेट और इंफेक्टिड करना शुरू कर दिया ठीक उसी तरह जैसे कोरोनवायरस प्रभावित करता है. इस बीमारी को स्वाइन फ्लू का उपनाम दिया गया था क्योंकि इस स्थिति का कारण बनने वाला वायरस शुरू में जीवित सूअरों से मनुष्यों में आया था जिसमें यह विकसित हुआ था. 

स्वाइन फ्लू के लक्षण क्या हैं?

H1N1 स्वाइन फ्लू के लक्षण नियमित फ्लू के लक्षणों की तरह होते हैं, और इसमें बुखार, खांसी, गले में खराश, नाक बहना, शरीर में दर्द, सिरदर्द, ठंड लगना और थकान शामिल हैं. स्वाइन फ्लू से पीड़ित कई लोगों को दस्त और उल्टी का भी अनुभव हुआ है, लेकिन ये लक्षण कई अन्य स्थितियों के कारण भी हो सकते हैं. इसका मतलब है कि आपको और आपके डॉक्टर को केवल आपके लक्षणों के आधार पर पता नहीं चल सकता है कि आपको स्वाइन फ्लू हुआ है या नहीं.

मेडिकल हेल्प कब लेनी चाहिए?

यदि आपको सांस लेने में कठिनाई या सांस लेने में तकलीफ हो, छाती या पेट में दर्द या दबाव महसूस हो, अचानक चक्कर आ जाए, गंभीर या लगातार उल्टी होती रहे और फ्लू जैसे अन्य लक्षण हैं जो सुधरते हैं लेकिन फिर बिगड़ते बुखार या खांसी के साथ वापस आते हैं, तो आपको डॉक्टर को दिखान की जरूरत है.

 

Join Us on Dailyhunt
Follow us on Daily Hunt
Follow Us on Google News
Follow us on Google News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

स्वतंत्रता दिवस पर बोले रूसी राष्ट्रपति पुतिन, भारत को विश्व मंच पर काफी प्रतिष्ठा हासिल है स्वतंत्रता दिवस पर बोले रूसी राष्ट्रपति पुतिन, भारत को विश्व मंच पर काफी प्रतिष्ठा हासिल है
दुनियाभर में भारतीयों ने सोमवार को उत्साह के साथ भारत का 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाया। इस दौरान दुनियाभर के नेताओं...
विकसित भारत बनाने के लिए PM ने सेट किया टारगेट...भ्रष्टाचार खत्म करने के साथ परिवारवाद पर बोला हमला
भारत 75वां स्वतंत्रता दिवस पर अमिताभ बच्चन ने साइन लेंग्वेज में गाया राष्ट्रगान...
अरिजीत सिंह एक बार फिर आए फैंस के बीच चर्चा में, समाज कल्याण के लिए उठाया ये कदम...
बार-बार तबादला, मनपा अधिकारियों में नाराजगी...
कोलाबा-बांद्रा-सीप्ज मेट्रो-३ का काम ९८.९ फीसदी बनकर तैयार...
एनसीबी अधिकारी समीर वानखेडे ने राकांपा नेता नवाब मलिक पर किया केस, एससी-एसटी एक्ट की धाराएं लगाईं...

Join Us on Social Media

Videos