महाराष्ट्र सरकार ने कथित फोन टैपिंग मामले की जांच CBI को सौंपने का आदेश जारी किया

The Maharashtra government has issued an order handing over the investigation into the alleged phone tapping case to the CBI

महाराष्ट्र सरकार ने कथित फोन टैपिंग मामले की जांच CBI को सौंपने का आदेश जारी किया

मुंबई : महाराष्ट्र सरकार ने राज्य पुलिस को कथित फोन टैपिंग प्रकरण सहित दो मामले केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपने के निर्देश दिए हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि फोन टैपिंग मामले में मौजूदा उप मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता देवेंद्र फडणवीस का बयान पुलिस ने दर्ज किया था।

अधिकारी ने बताया कि दूसरा मामला भाजपा के एक अन्य नेता और राज्य के पूर्व मंत्री गिरीश महाजन से संबंधित है। उनपर जबरन वसूली और आपराधिक धमकी के आरोप हैं। उन्होंने बताया, ‘‘राज्य सरकार ने इन दोनों मामलों को सीबीआई को सौंपने का आदेश जारी किया है, लेकिन मुंबई पुलिस को अब तक आदेश की प्रति नहीं मिली है।’’

भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) की अधिकारी रश्मि शुक्ला कथित तौर पर नेताओं और वरिष्ठ अधिकारियों की फोन टैपिंग के मामले में आरोपी हैं। आरोप है कि उन्होंने इस कृत्य को तब अंजाम दिया, जब वह वर्ष 2019 के दौरान राज्य खुफिया विभाग (एसआईडी) की प्रमुख थीं।

मुंबई पुलिस ने वर्ष 2021 में पहली बार सरकारी गोपनीयता अधिनियम के तहत बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (बीकेसी)साइबर पुलिस थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ कथित तौर पर नेताओं और वरिष्ठ अधिकारियों के फोन टैप करने और गोपनीय जानकारी लीक करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की थी। यह प्राथमिकी एसआईडी की शिकायत पर दर्ज की गई थी।

वर्ष 2014 से 2019 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे फडणवीस ने शुक्ला के कथित पत्र का हवाला दिया, जिसे उन्होंने (शुक्ला ने) महाराष्ट्र के तत्कालीन पुलिस महानिदेशक को भेजा था और उसमें विभाग में हुए तबादलों में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। पत्र में फोन कॉल के टैप करने की भी जानकारी थी, जिसको लेकर तत्कालीन शिवसेना नीत सरकार के नेताओं ने आरोप लगाया था कि बिना अनुमति के कथित तौर पर फोन टैप किये गए।

इससे पहले, महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने अपनी जांच रिपोर्ट में आरोप लगाया था कि शुक्ला ने गोपनीय रिपोर्ट लीक की है। अधिकारी ने बताया, ‘‘साइबर पुलिस टीम ने इस मामले में शुक्ला का बयान दर्ज किया था।’’ उन्होंने बताया कि इस साल मार्च में फडणवीस का बयान भी दर्ज किया गया था।

मुंबई पुलिस आयुक्त संजय पांडे के निर्देश पर इस मामले को हाल में आगे की जांच के लिए दक्षिण मुंबई के कोलाबा पुलिस थाने को स्थानांतरित किया गया था। अधिकारी ने बताया कि अब, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में बनी नयी सरकार ने आदेश जारी कर जांच सीबीआई को सौंपने को कहा है।

उन्होंने बताया कि गिरीश महाजन के खिलाफ उत्तरी महाराष्ट्र के जलगांव में मामला दर्ज किया गया था। अधिकारी ने बताया कि महाजन के साथ 28 अन्य लोगों को प्राथमिकी में नामजद किया गया है। अधिकारी ने बताया, ‘‘उन लोगों पर जलगांव स्थित एक सहकारी शिक्षण संस्थान के पदाधिकारी से वसूली और धमकी के आरोप हैं। बाद में इस मामले को पुणे के कोथरूड पुलिस थाने को आगे की जांच के लिए स्थानांतरित कर दिया गया था।’’

 

Join Us on Dailyhunt
Follow us on Daily Hunt
Follow Us on Google News
Follow us on Google News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

 एक बार फिर कोरोना मामलों में दोगुना उछाल...आधे से ज्यादा मरीज मुंबई में मिले एक बार फिर कोरोना मामलों में दोगुना उछाल...आधे से ज्यादा मरीज मुंबई में मिले
महाराष्‍ट्र पर एक बार फिर कोरोना का खौफ मंडरा रहा है. राज्‍य में बुधवार को कोरोनावायरस के 1800 नए मामले...
लेखिका तसलीमा नसरीन का दावा...'मेरी भी हत्या हो सकती है, पाकिस्तानी धर्मगुरु खादिम रिजवी मुझे मारना चाहता था'
मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ईडी की चार्जशीट के‌ बाद आर. माधवन जैकलीन फर्नांडीस को लेकर क्या बोले ? 'उम्मीद करता हूं वो..'
बांद्रा पूर्व में म्हाडा मुख्यालय में राष्ट्रगान का सामूहिक गायन...
व्यवसायी के सिर पर हमला कर हत्या... FIR दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस
ईडी ने फिर शुरू की छापेमारी, पात्रा चॉल भूमि घोटाले में संजय राउत भी हैं आरोपी...
गाइडलाइन में धूमधाम से मनाओ गणेशोत्सव - मनपा आयुक्त चहल

Join Us on Social Media

Videos