महाराष्ट्र की गद्दी पर बैठने के लिए चल रही रस्साकशी के बीच बीजेपी की सहयोगी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के चीफ रामदास अठावले नया फॉर्म्युला लाए हैं।

Advertisement

Creative Point Photo Videography (Mumbai)
महाराष्ट्र की गद्दी पर बैठने के लिए चल रही रस्साकशी के बीच बीजेपी की सहयोगी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के चीफ रामदास अठावले नया फॉर्म्युला लाए हैं।

महाराष्ट्र की गद्दी पर बैठने के लिए चल रही रस्साकशी के बीच बीजेपी की सहयोगी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के चीफ रामदास अठावले नया फॉर्म्युला लाए हैं। शिवसेना और बीजेपी के बीच रास्ता निकालने की बात करते हुए उन्होंने बीजेपी को 3 साल और शिवसेना को 2 साल के लिए सीएम पद दिए जाने की बात कही। आरपीआई चीफ आठवले ने सोमवार को कहा, ‘मैंने शिवसेना नेता संजय राउत से समझौते के लिए बात की है। मैंने उन्हें 3 साल (बीजेपी का सीएम) और 2 साल (शिवसेना का सीएम) के फॉर्म्युले की सलाह दी है। राउत ने कहा है कि बीजेपी अगर तैयार हो तो शिवसेना इसके बारे में विचार कर सकती है। अब मैं बीजेपी से इस बारे में चर्चा करूंगा।’

पहले शिवसेना से की थी अपील बता दें कि 29 अक्टूबर को आठवले ने शिवसेना से अपील की थी कि वह मुख्यमंत्री पद की अपनी मांग को ज्यादा लंबा नहीं खींचे और उसे उप मुख्यमंत्री पद लेने के लिए सहमत हो जाना चाहिए। आठवले ने उद्धव ठाकरे से अपील करते हुए कहा था कि ‘मुझे नहीं लगता कि शिवसेना को मुख्यमंत्री का पद मिलेगा। लेकिन वह महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट के ज्यादा विभाग और केंद्र में एक अतिरिक्त मंत्री पद ले सकते हैं।’

फिर से चुनाव बीजेपी-शिवसेना के लिए नुकसान करेंगे’ आठवले ने आगे कहा, ‘अगर राज्य में (सरकार बनाने को ले कर चल रहा गतिरोध दूर न होने की स्थिति में) फिर से चुनाव होते हैं तो यह बीजेपी और शिवसेना के लिए बड़ा नुकसान होगा। बीजेपी को भी शिवसेना की मांग पर विचार करना चाहिए।’ अठावले ने कहा था कि शिवसेना का (सरकार बनाने के लिए) कांग्रेस और एनसीपी के साथ जाना भी अच्छा नहीं लगेगा। CM पोस्ट को लेकर जुदा हुईं शिवसेना-बीजेपी की राहें बता दें कि 288 सीटों वाली महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को बहुमत मिला था लेकिन सीएम पद को लेकर विवाद से दोनों की राहें जुदा हो गईं। बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटों पर जीत मिली थी। अब शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस का स्थानीय नेतृत्व तो शिवसेना को समर्थन के पक्ष में है लेकिन उसकी कट्टर हिंदुत्व की छवि की वजह से कांग्रेस आलाकमान अभी भी समर्थन को लेकर दुविधा में है। माना जा रहा है कि शरद पवार सोनिया गांधी से मुलाकात कर उन्हें शिवसेना को समर्थन देने के लिए राजी करेंगे।

Tags:

Advertisement

Creative Point Photo Videography (Mumbai)
Citizen Reporter
Report Your News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Advertisement

Creative Point Photo Videography (Mumbai)

Join Us on Social Media

Latest News

नवी मुंबई में दिन दहाड़े घर में घुसे चोर...  इलाके में चोरों की घटनाओं से दहशत का माहौल नवी मुंबई में दिन दहाड़े घर में घुसे चोर... इलाके में चोरों की घटनाओं से दहशत का माहौल
नवी मुंबई के सीबीडी बेलापुर इलाके में चोरों की घटनाओं से नागरिकों में बेहद दहशत का माहौल है। चोरों के...
उत्तर प्रदेश में बीजेपी से नजदीकियों के बीच एक मंच पर दिखे डिप्टी सीएम और राजभर, ब्रजेश ने ओमप्रकाश को बताया स्थायी मित्र...
फिल्म 'पोन्नियिन सेल्वन' की बॉक्स ऑफिस पर छप्पर फाड़ कमाई जारी...
फिल्‍म 'आदिपुरुष' पर भड़के बीजेपी विधायक राम कदम...फिल्‍म मेकर्स पर बैन लगाने की भी कही बात
जाने-माने उद्योगपति मुकेश अंबानी परिवार को धमकी देने वाला बिहार से गिरफ्तार, मुंबई ला रही पुलिस...
कांदिवली में पुराने पादचारी और रोड ब्रिज को तोड़कर बनेगा रोड ब्रिज... खर्च होंगे 56 करोड़ 
मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 80 करोड़ रुपए की DRI ने पकड़ी ड्रग्‍स, 1 शख्‍स को किया ग‍िरफ्तार...

Advertisement

Creative Point Photo Videography (Mumbai)

Join Us on Social Media

Videos