भारत की सीमाओं के साथ सड़क और बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में शामिल कर्मियों का न्यूनतम वेतन में 100 से 170 प्रतिशत की वृद्धि की गई है

भारत की सीमाओं के साथ सड़क और बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में शामिल कर्मियों का न्यूनतम वेतन में 100 से 170 प्रतिशत की वृद्धि की गई है

सरकार ने भारत की सीमाओं के साथ सड़क और बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में शामिल कर्मियों को वेतन वृद्धि देने का फैसला किया है। इन क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए न्यूनतम वेतन में 100 से 170 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। सबसे ज्यादा बढ़ोतरी तनावग्रस्त लद्दाख सेक्टर में सड़क बनाने वाले कर्मचारियों को दी गई है।नई वेतन संरचना 1 जून से लागू हुई। यह आदेश राष्ट्रीय राजमार्ग और बुनियादी ढांचा विकास निगम लिमिटेड (NHIDCL) द्वारा जारी किया गया है।

Read More ...पत्नी के साथ हिंसा करने वाले पति को घर से निकालना सही -मद्रास हाईकोर्ट 

आदेश में कहा गया है कि चीन, पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ सीमावर्ती क्षेत्रों में काम करने वालों के जोखिम भत्ते में 100 से 170 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। नए आदेश के बाद लद्दाख में काम करने वाले डेटा एंट्री ऑपरेटर जैसे आउटसोर्स गैर-तकनीकी कर्मचारियों का वेतन 16,770 रुपये प्रति माह से बढ़कर 41,440 रुपये प्रति माह हो गया है। उसी व्यक्ति को दिल्ली में 28,000 रुपये का वेतन मिलता है। एक लेखाकार का वेतन भी लद्दाख क्षेत्र में 25,700 रुपये से बढ़ाकर 47,360 रुपये प्रति माह कर दिया गया है।एक सिविल इंजीनियरिंग स्नातक जो लद्दाख क्षेत्र में काम कर रहा है, उसे अब पहले 30,000 रुपये प्रति माह से 60,000 रुपये का वेतन मिलेगा।

Read More लेखिका तसलीमा नसरीन का दावा...'मेरी भी हत्या हो सकती है, पाकिस्तानी धर्मगुरु खादिम रिजवी मुझे मारना चाहता था'

प्रबंधक स्तर पर वेतन 50,000 रुपये से बढ़ाकर 1,12,800 रुपये प्रति माह कर दिया गया है और एक वरिष्ठ प्रबंधक को अब 1,23,600 रुपये प्रति माह मिलेंगे, जो पहले के वेतन के बजाय 55,000 रुपये प्रति माह था। वेतन लाभ के अलावा, अनुबंधित कर्मचारियों को 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा और 10 लाख रुपये की दुर्घटना बीमा पॉलिसी भी मिलेगी। उन्हें यात्रा भत्ता, महंगाई भत्ता, भविष्य निधि आदि जैसी अन्य सुविधाएं भी मिलेंगी।कठिन क्षेत्रों में काम करने वाले कर्मचारियों को तीन श्रेणियों में रखा गया है: पहली श्रेणी में असम, मेघालय, त्रिपुरा, सिक्किम और उत्तराखंड में काम करने वाले लोग शामिल हैं। अरुणाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, मिजोरम और नागालैंड में काम करने वाले लोग दूसरी श्रेणी में हैं। लद्दाख क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को तीसरी श्रेणी में रखा गया है

Read More बिहार की राजनीति में हलचल मच चुकी सीएम नीतीश कुमार इस्तीफा देंगें

Tags:
Join Us on Telegram
Telegram
Join Us on Whatsapp
Whatsapp
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

खड्ढे के कारण नेशनल पार्क ब्रिज पर एक्सीडेंट 2  की मौत... खड्ढे के कारण नेशनल पार्क ब्रिज पर एक्सीडेंट 2  की मौत...
वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे नेशनल पार्क ब्रिज पर  खड्ढे की चपेट में आने के कारण दो बाइक सवार गिर गए पीछे...
मानहानि का मामला: शिवसेना नेता संजय राउत वीडियो कांफ्रेंस के जरिए मुंबई की अदालत में पेश हुए
दही हांडी उत्सव के दौरान शिंदे और उद्धव के समर्थक शक्ति प्रदर्शन के लिए तैयार...
अजित पवार का आरोप... सीएम एकनाथ शिंदे के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद से राज्य में हर दिन 3 किसान आत्महत्या
कीर्ति सुरेश को ग्लैमरस दिखने की कोशिश पड़ी भारी, लोगों ने दिया बेहूदा फैशन का खिताब...
खाने की शिकायत पर बुजुर्ग को जड़ा दिया ऐसा घूंसा, एक महीने बाद मौत...
रायगढ़ जिले के श्रीवर्धन में हरिहरेश्वर के तट पर एके-47, राइफल और गोलियों के साथ एक अज्ञात नाव मिली

Join Us on Social Media

Videos