अभिनेत्री कंगना रनौत ने मांगा BMC से 2 करोड़ का मुआवजा, उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया

अभिनेत्री कंगना रनौत ने मांगा BMC से 2 करोड़ का मुआवजा, उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया

मुंबई। अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने अपने बंगले में की गई कथित ‘अवैध’ तोड़फोड़ के लिए बृह्नमुंबई महानगर पालिका (BMC) से दो करोड़ रुपए के मुआवजे की मांग के वास्ते बंबई उच्च न्यायालय के समक्ष अपनी याचिका में संशोधन किया है। उपनगरीय इलाके बांद्रा स्थित रनौत के बंगले में बीएमसी ने गत 9 सितंबर को कथित अवैध निर्माण को तोड़ा था, जिसके खिलाफ अभिनेत्री ने उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था।

तब न्यायमूर्ति एसजे कठवल्ला की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने बीएमसी की कार्रवाई पर यह कहते हुए रोक लगा दी थी कि यह ‘दुर्भावनापूर्ण’ प्रतीत होती है। रनौत ने अपनी संशोधित याचिका में आरोप लगाया कि महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ की गई उनकी टिप्पणियों के परिणामस्वरूप बीएमसी ने तोड़फोड़ की कार्रवाई का फैसला किया।

इसके मुताबिक, हाल ही में अभिनेत्री की महाराष्ट्र सरकार से तनातनी चल रही थी क्योंकि उन्होंने राज्य सरकार से संबंधित कुछ मुद्दों से निपटने को लेकर की गई कार्रवाई पर अपने विचार व्यक्त किए थे, जिनका आम जनता पर प्रभाव पड़ता है।

संशोधित याचिका के मुताबिक, उनके विचारों ने कुछ खास पक्षों को नाखुश किया और एक विशेष राजनीतिक दल की नाराजगी का कारण बना जो कि महाराष्ट्र सरकार का हिस्सा है। इसके मुताबिक, ‘यही दल’ बीएमसी में भी सत्तारूढ़ है। हालांकि, इसमें शिवसेना का नाम नहीं लिया गया।

याचिका में यह भी दलील दी गई कि रनौत ने बंगले में ढांचागत मरम्मत के लिए बीएमसी से अनुमति मांगी थी और वर्ष 2018 में यह अनुमति प्रदान भी की गई थी। याचिका में अदालत से बीएमसी की कार्रवाई को अवैध घोषित करने और ‘संबंधित अधिकारियों’ से नुकसान की भरपाई के बतौर 2 करोड़ रुपए का मुआवजा देने का अनुरोध किया गया है। मामले की अगली सुनवाई 22 सितंबर के लिए निर्धारित की गई है।

संसद में भी कंगना की गूंज : महाराष्ट्र सरकार और फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच चल रही तनातनी का मुद्दा मंगलवार को लोकसभा में गूंजा। हिमाचल प्रदेश से भाजपा के एक सांसद ने इस मुद्दे को उठाते हुए महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ शिव सेना पर निशाना साधा और उसे कांग्रेस की सेना करार दिया।

शून्यकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाते हुए मंडी के सांसद राम स्वरूप शर्मा ने कहा कि हिमाचल की बेटी कंगना रनौत के साथ महाराष्ट्र में पिछले दिनों जो व्यवहार हुआ उसकी भर्त्सना की जानी चाहिए। कंगना रनौत मूल रूप से हिमाचल प्रदेश के मनाली की रहने वाली हैं। मनाली मंडी संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है।

Join Us on Dailyhunt
Follow us on Daily Hunt
Follow Us on Google News
Follow us on Google News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

मेरी लड़ाई जारी रहेगी... भाजपा नेता चित्रा वाघ ने गुर्राते हुए अपनी आवाज की बुलंद मेरी लड़ाई जारी रहेगी... भाजपा नेता चित्रा वाघ ने गुर्राते हुए अपनी आवाज की बुलंद
४० दिनों बाद हुए सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार में शिंदे गुट के विधायक संजय राठौड़ को फिर मंत्री बनाया गया...
फिल्म के पोस्टर पर भगवान कृष्ण का पोस्टर दिखाना मेकर्स को पड़ गया महंगा...
गूगल मैप पर रास्ता पूछना खतरों से खाली नहीं, नहर में घुस गई कार...
बुलेट ट्रेन को पूरा करने के लिए ६ हजार करोड़ रुपए की फिजूलखर्ची - नाना पटोले
प्रेमिका ने चुराई मॉल से हीरे की अंगूठी, फिर पहुंचे जेल...
8वीं बार मुख्यमंत्री बनेंगे नितीश कुमार! दोपहर 2 बजे लेंगे शपथ...
फिल्म लाल सिंह चड्ढा की रिलीज से पहले आमिर खान ने तोड़ी चुप्पी, अगर मैंने किसी का दिल...

Join Us on Social Media

Videos