ड्रग्स माफियाओं को एनसीपी का संरक्षण! – मोहित कंबोज

ड्रग्स माफियाओं को एनसीपी का संरक्षण! – मोहित कंबोज

Rokthok Lekhani

मुंबई : बीजेपी नेता मोहित कंबोज ने एक सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा है कि मुंबई क्रूज़ ड्रग्स पार्टी मामले में हुई रेड का मुख्य साजिशकर्ता राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी यानी एनसीपी का एक नेता है। इस नेता का नाम सुनील पाटिल है। कंबोज ने इस बाबत कई अहम सबूत भी पेश किए हैं। कंबोज का यह भी कहना है कि किरण गोसावी सुनील पाटिल का आदमी है।

कंबोज ने बताया कि यह कहानी 1 अक्टूबर 2021 से शुरू होती है। सुनील पाटिल ने पहले सैम डिसूजा को व्हाट्सएप मैसेज किया और उसके बाद व्हाट्सएप कॉल किया। पाटिल ने सैम को बताया कि उसके पास 27 लोगों के नाम हैं। जो मुंबई में होने वाली एक क्रूज ड्रग्स पार्टी का हिस्सा होने वाले हैं। लिहाजा मेरी किसी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी से तुम बात करवाओ। जिसके बाद सैम डिसूजा ने एनसीबी अधिकारी वीवी सिंह से बात की।

सुनील पाटिल ने कहा कि मेरे आदमी को एनसीबी अधिकारी से मिलवा दो। वह उनसे बात कर लेगा। जब सुनील पाटिल से यह पूछा गया कि वह आदमी कौन है तब उन्होंने कहा कि किरण गोसावी। सैम ने कहा कि इसके बाद 2 अक्टूबर को शाम 4 बजे रेड हुई और 8 बजे पाटिल ने मुझे दोबारा फोन किया।

मोहित कंबोज ने मीडिया कर्मियों को एक ऑडियो सुनाते हुए कहा कि इस ऑडियो क्लिप में सुनील पाटिल सैम डिसूजा से बात कर रहे हैं। पाटिल, डिसूजा को यह बता रहे हैं कि उनके कितने बड़े बड़े नेताओं के साथ में अच्छे संबंध हैं। सुनील पाटिल ने सैम डिसूजा से कहा कि उसके दिलीप वलसेपाटील से भी करीबी संबंध हैं और वह एक दूसरे को 23 सालों से जानते हैं।

मोहित कंबोज ने यह आरोप भी लगाया कि जिस तरह से महाराष्ट्र के एक मंत्री ने झूठी कहानी बनाई। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर वह किस इंसान को बचाने की कोशिशों में जुटे हुए थे। क्या किसी को संरक्षण दिया जा रहा था? एक अधिकारी पर लगातार यह आरोप लगाया जा रहा है कि बीजेपी के साथ मिलकर इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया, यह आरोप बेबुनियाद है। सवाल यह भी है कि क्या एक केंद्रीय एजेंसी के खिलाफ साजिश रची जा रही थी?

मोहित कंबोज ने यह भी बताया कि मुंबई के ललित होटल में करीब एक साल से सुनील पाटिल का एक सूट बुक था। जहां पार्टियां होती थी और वहां एनसीपी के कई मंत्री शिरकत करते थे। आखिर उन पार्टियों में एनसीपी के कौन-कौन से मंत्री जाते थे, इस बात का भी खुलासा होना चाहिए। वहीं पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के बेटे ऋषिकेश देशमुख और सुनील पाटिल का क्या संबंध है? इसके अलावा पुलिस ट्रांसफर के लिए करोड़ों रुपए की डीलिंग कौन करता था? इसका भी खुलासा होना चाहिए।

मोहित कंबोज ने बताया कि जनवरी 2021 में दाऊद के गुर्गे चिंकू पठान को गिरफ्तार किया गया था। तब उसके पास से हथियार और एमडी ड्रग्स बरामद किया गया था। उस दौरान तत्कालीन गृहमंत्री ने उसे सहयाद्री गेस्ट हाउस में मुलाकात की थी। इस मुलाकात के दौरान एक मंत्री का दामाद भी वहां मौजूद था। जो पैसे की डीलिंग कर रहा था कि इस आरोपी को संरक्षण देने के लिए कितने पैसे मिलेंगे?


Tags:
Join Us on Dailyhunt
Follow us on Daily Hunt
Follow Us on Google News
Follow us on Google News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

भारी बारिश के कारण तालाब में तब्दील हुआ वसई-विरार... भारी बारिश के कारण तालाब में तब्दील हुआ वसई-विरार...
वसई-विरार और नालासोपारा में देर रात से जोरदार बारिश हो रही है। भारी बारिश के कारण लोग अपने घरों में...
प्रधानमंत्री की दौड़ में ऋषि सुनक की जीत के लिए ब्रिटेन में हो रही हवन, जानिए पीएम रेस में कितनी बढ़त...
एक्टर राणा दग्गुबाती ने इंस्टाग्राम को कहा अलविदा, डिलीट किए सारे पोस्ट...
BMC की 50 लाख तिरंगे बांटने की है योजना, मुंबई में हर घर लहराएगा तिरंगा...
गांव जाने से पत्नी करने लगी मना, सनकी पति ने अपनी पत्नी पर चाकू से कर दिया हमला...
महाराष्ट्र कैबिनेट की मेट्रो 3 परियोजना की लागत में बढ़ोतरी के लिए मिल सकती है मंजूरी...
सुप्रिया सुले महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में महिलाओं को जगह न मिलने से नाखुश...

Join Us on Social Media

Videos