गुजरात के CM मुंबई के उद्योगपतियों से मिले, ममता बनर्जी पर सवाल उठाने वाले क्यों चुप हैं अब?’- संजय राउत

गुजरात के CM मुंबई के उद्योगपतियों से मिले, ममता बनर्जी पर सवाल उठाने वाले क्यों चुप हैं अब?’- संजय राउत

Rokthok Lekhani

मुंबई : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीते मंगलवार को मुंबई आई थीं. अपने दो दिनों के दौरे में उन्होंने उद्योगपतियों की बैठक बुलाई. उन्हें बंगाल आने का निमंत्रण दिया. इस पर महाराष्ट्र बीजेपी की ओर से आलोचनाएं की गई थीं. विधायक आशिष शेलार ने कहा था कि वे एक साजिश के तहत मुंबई आई हैं और इस साजिश में शिवसेना उनका साथ दे रही है.

वे उद्योगपतियों से मिल कर महाराष्ट्र के उद्योग और रोजगार बंगाल ले जाना चाहती हैं. इसका जवाब आज (5 दिसंबर, रविवार) शिवसेना के मुखपत्र सामना में सांसद संजय राउत ने अपने लेख के माध्यम से दिया है.

संजय राउत ने अपने सामना में लिखे लेख में महाराष्ट्र बीजेपी से सवाल किया है कि, ‘मुंबई आकर उद्योगपतियों से मिलने में क्या गलत है? मुंबई देश की औद्योगिक और आर्थिक राजधानी है. देश की तिजोरी में सवा दो लाख करोड़ रुपए का योगदान अकेले मुंबई शहर करता है.

इसे भुलाया नहीं जा सकता कि मुंबई देश का पेट भरती है. ममता बनर्जी के मुंबई दौरे को लेकर टिप्पणी करनेवाला भाजपा नेतृत्व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल की मुंबई की हलचलों को लेकर आपत्ति उठाने को तैयार क्यों नहीं है?’

संजय राउत ने सवाल किया कि,’ ममता बनर्जी के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल अपना आधा मंत्रिमंडल लेकर मुंबई आए. `वाइब्रेंट गुजरात’ के लिए मुंबई के उद्योगपतियों को गुजरात आने का न्योता देने के लिए वे आए. आत्मनिर्भर गुजरात बनाने के लिए उन्हें मुंबई के उद्योगपतियों की सहायता चाहिए.

मतलब गुजरात का औद्योगिक विकास और अर्थव्यवस्था मुंबई पर निर्भर है. श्री पटेल का मुंबई आकर उद्योगपतियों से मुलाकात में कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन ममता दीदी उद्योगपतियों से मिलती हैं तो क्या दिक्कत है?’

शिवसेना सांसद ने आगे लिखा है, ‘योगी आदित्यनाथ तो फिल्म इंडस्ट्री को मुंबई से लखनऊ ले जाने आए थे. इस पर भी भाजपा ने कोई आपत्ति नहीं जताई. मुंबई का अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय केंद्र रातों-रात अहमदाबाद खींच लिया गया. भाजपा ने इस लूट पर भी कोई टिप्पणी नहीं की. फिर ममता बनर्जी की मुंबई यात्रा पर बवाल क्यों?’

इसके बाद संजय राउत ने गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल की मुंबई यात्रा और ममता बनर्जी की मुंबई यात्रा के बीच एक बड़े फर्क की ओर ध्यान खींचा है. उन्होंने लिखा है कि, ‘ मुझे गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल के मुंबई दौरे की बात याद आ रही है.

वे मुंबई के व्यापारियों को गुजरात आने का निमंत्रण लेकर आई थीं और मुंबई को ही बदनाम करके चली गईं. `मुंबई में क्या रखा है? यहां की सड़कें भी खराब हैं. इसलिए गुजरात चलो.’ उन्होंने ऐसा कहा था. तब महाराष्ट्र में गुस्से की लहर दौड़ गई थी. ममता बनर्जी ने उद्योगपतियों से मुंबई के विकास की सराहना की और उन्होंने बंगाल की ओर भी देखने को कहा. महाराष्ट्र को प. बंगाल के विकास के लिए सहयोग करना चाहिए.’


Tags:
Join Us on Dailyhunt
Follow us on Daily Hunt
Follow Us on Google News
Follow us on Google News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

जीएसटी से महंगी हुई गणेश प्रतिमाएं जीएसटी से महंगी हुई गणेश प्रतिमाएं
गणेश प्रतिमा के लिए आवश्यक कच्चे माल पर जीएसटी लगाया गया है। इसलिए पीओपी की कीमत में 40 से 50...
मनसे के कार्यकर्ताओं के लिए मार्गदर्शन शिविर
...नहीं पता महाराष्ट्र का असली मुख्यमंत्री कौन है- आदित्य ठाकरे
यूक्रेनी महिलाएं अपने देश के सैनिकों को भेज रहीं न्यूड तस्वीरें-वीडियो ...
मुंबई के शिवाजी पार्क मैदान में बाल ठाकरे का लगाया हुआ पेड़ भारी बारिश के कारण गिर गया
बॉलीवुड इंडस्ट्री के किंग खान ने ली चुटकी, इस शख्स के सामने पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर की भी हो जाती है बोलती बंद...
NCB की छापेमारी, 88 किलो गांज और पांच किलो मेफेड्रोन जब्त...3 गिरफ्तार

Join Us on Social Media

Videos