सरकारी गवाह बनना चाहता है सचिन वझे ईडी को की मांग

सरकारी गवाह बनना चाहता है सचिन वझे ईडी को  की मांग

मुंबई: सचिन वझे ने ईडी को पत्र लिखकर अनिल देशमुख मामले में सरकारी गवाह बनने की इच्छा जाहिर की है। वझे ने तलोजा जेल से 4 फरवरी को यह पत्र ईडीके असिस्टेंट डायरेक्टर को लिखा है। ईडी ने अभी तक वझे के इस प्रस्ताव पर कोई फैसला नहीं किया है। ईडी ने अनिल देशमुख व कुछ अन्य लोगों को मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार किया है। सभी अभी तक जेल में ही हैं। सूत्रों के मुताबिक इस मामले में वझे के खिलाफ सबूतों के देखने के बाद इस पर फैसला लिया जा सकता है।

यदि सचिन वझे को सरकारी गवाह बनना है तो उसे कोर्ट के सामने एक एप्लीकेशन देनी होगी। ईडी को वझे की यह एप्लीकेशन गुरुवार के दिन मिली थी। जिसके बाद इस बात की जानकारी संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई है। हालांकि पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के वकील इंद्रपाल सिंह ने एक बयान में कहा कि वझे को कोई अधिकार नहीं है कि वह इस मामले में सरकारी गवाह बन सके। क्योंकि ईडी ने खुद उन्हें इस मामले में मुख्य अभियुक्त के तौर पर रखा है।

राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर सचिन वझे ने गंभीर आरोप लगाए गए हैं। एंटीलिया के पास बरामद विस्फोटक सामग्री मामले में आरोपी और बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वझे ने चांदीवाल आयोग के सामने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने मंगलवार को आयोग के पास एक हलफनामा दिया। इसमें वझे ने आरोप लगाया कि देशमुख ने उसके परिवार के सदस्य को जान से मारने की धमकी दी थी।

हलफनामा में वझे ने यह भी दावा किया कि देशमुख के कहने पर उसने बार वालों से वसूली की थी। वझे का यह बयान आयोग के सामने क्रॉस-एग्जामिनेशन के समय दिए गए जवाब के विपरीत है। वझे ने आयोग से पूर्व में दर्ज कराए अपने बयान को बदलने की मांग की थी, जिसे आयोग ने खारिज कर दिया।

वझे से जब आयोग के सामने पूछा गया था कि क्या यह कहना सही होगा कि उनसे कभी भी देशमुख के निजी कर्मचारी अथवा उनसे जुड़े किसी व्यक्ति ने कभी पैसे की मांग की थी? इस पर वझे ने कहा था कि मुझसे निजी तौर पर किसी ने पैसे की मांग नहीं की थी। अब उनका कहना है कि हां, देशमुख से जुड़े लोग उनकी तरफ से पैसों की मांग करते थे।

देशमुख और उनके लोग पैसे कलेक्ट करने के लिए कहे थे। इसी क्रॉस-एग्जामिनेशन के दौरान पूछा गया था कि क्या देशमुख के ऑफिस अथवा उनकी तरफ से बार मालिकों से पैसे वसूली करने को कहा गया था? इस पर पहले वझे ने जवाब दिया था कि मुझे याद नहीं है, लेकिन अब वझे अपना बयान बदलकर लिखवाना चाहते हैं कि हां, न सिर्फ देशमुख बल्कि उनसे जुड़े लोग भी मुझसे पैसे वसूली करने के लिए कहते थे।

सीबीआई ने महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के सहयोगियों संजीव पलांडे और कुंदन शिंदे से जेल में लंबी पूछताछ की। पलांडे ने देशमुख के पर्सनल सेक्रेटरी के तौर पर लंबे समय तक काम किया है, जबकि शिंदे उनके असिस्टेंट थे। सीबीआई सूत्रों के अनुसार, डिप्टी सुपरिटेंडेंट रैंक के अधिकारियों की टीम दोनों से गत सोमवार से पूछताछ कर रही है। गुरुवार को भी पूछताछ जारी रहेगी। पलांडे और शिंदे को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में कई महीने पहले गिरफ्तार किया था। दोनों तब से आर्थर रोड जेल में बंद हैं।

Tags:
Join Us on Dailyhunt
Follow us on Daily Hunt
Follow Us on Google News
Follow us on Google News
Download Android App
Download Android App

Join Us on Social Media

Post Comment

Comment List

Join Us on Social Media

Latest News

बसपा के पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ पहुंचे हाईकोर्ट, अदालत ने यूपी सरकार से मांगा शपथ पत्र... बसपा के पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ पहुंचे हाईकोर्ट, अदालत ने यूपी सरकार से मांगा शपथ पत्र...
बसपा के पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल पुलिस कार्रवाई के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि ईडी, सीबीआई आदि...
बोल्ड तस्वीरों से अभिनेत्री अथिया शेट्टी ने बढ़ाया इंटरनेट का पारा...
मुंबई में 23 अगस्त तक सड़कों के गड्ढे भरेगी बीएमसी...
उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राकांपा नेता पर क्यों कसा तंज...'मर्जी के हिसाब से चीजें भूल जाते हैं अजित पवार'
काला जादू के चक्कर में पांच साल की बच्ची को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट...
गैंगरेप और हत्या की कोशिश के मामले में सीएम शिंदे ने दिए जांच के आदेश, गठित की एसआईटी...
बीजेपी का कहना है 'अवैध स्टूडियो घोटाले में कांग्रेस के असलम शेख के खिलाफ नोटिस जारी'

Join Us on Social Media

Videos