महराष्ट्र सरकार को पंजीकृत समाचार पत्र के पत्रकार को लोकल ट्रेन में यात्रा करने की अनुमति देनी चाहिए : वकील स्मिता चिपलूनकर

फैसल शेख वरिष्ट पत्रकार

मुंबई : मुंबई में लोकल ट्रेन शहर की जीवन रेखा है, यात्रा करने के लिए बहुत सुविधाजनक है, कोरोना पदनाम में जहां आवश्यक वस्तु लोगों को अनुमति दी गई थी, अब महिलाओं को लोकल ट्रेन में यात्रा करने की अनुमति है .

महाराष्ट्र सरकार को पंजीकृत समाचार पत्र को अनुमति देनी चाहिए | वरिष्ठ वकील स्मिता चिपलूनकर द्वारा यह अपील समाचार पत्र के रिपोर्टर केलिए महाराष्ट्र सरकार से कि गई है .

मीडिया लोगों के जीवन का हिस्सा है जहां उन्हें खबर मिलती है कि किधर क्या हो रहा है, जानकारी प्राप्त करने के लिए और रिपोर्टिंग करने के लिए कठिनाइयों का सामना पत्रकारों को करना पड़ रहा है.

कोरोना महामारी में जहां केंद्र और राज्य सरकार द्वारा कुल बंद घोषित किया गया था, पुलिस , महानगर पालिका करमचारी , डॉक्टर और मीडिया के लोग अलग-अलग कर्तव्यों के साथ जमीन पर थे

मान्यता कार्ड धारक पत्रकार, जो मीडिया फर्मों के लिए काम करते हैं संख्या में कम है उनको अनुमति दी गई है और प्रमुख वर्ग पत्रकार को शासन द्वारा अनदेखी किया जहां रहा है , वाकील स्मिता चिपलूनकर इसलिए उनकी मांग है जो पत्रकारों कि आवाज़ बनाई हुई है पंजीकृत समाचार पत्र को लोकल ट्रेन में सफर करने केलिए अनुमति देनी चाहिए .

Leave a Reply

Your email address will not be published.