माहिम बीच पर मिले सूटकेस में मानव अंगों की गुत्थी सुलझी

फैसल शेख
माहिम : 5 दिन पहले माहिम के समुद्र तट पर सूटकेस में पाए गए मानव अंगों की गुत्थी क्राइम ब्रांच यूनिट एक ने सुलझा ली है। क्राइम ब्रांच की जांच के बाद मालूम पड़ा कि सूटकेस में सांताक्रूज़ में रहने वाले बेनाटो नामक व्यक्ति के अंग थे। बेनाटो की हत्या एक संपत्ति विवाद में हुई थी, अपराध शाखा ने इस मामले में एक प्रेमी युगल को गिरफ्तार किया है।
बेनाटो जो मुंबई और मुंबई के बाहर पांच सितारा होटलों में संगीत शो चलाता था, सांताक्रूज़ पूर्व के वाकोला मस्जिद के पास अकेले रह रहा था। उन्होंने कुछ साल पहले एक युवती को गोद लिया था। इस युवती का एक युवक से प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। बेनाटो की संपत्ति पाने के लिए बेनाटो द्वारा गोद ली युवती ने ही अपने प्रेमी की मदद से अपने घर में बेनाटो की हत्या कर दी। फिर बेनाटो के शरीर को तीन भागों में काटकर तीन अलग-अलग सूटकेस में डाल कर
वकोला से बहने वाली मीठी नदी में फेंक दिया गया। इनमें से एक सूटकेस माहिम पुलिस को सोमवार को माहिम दरगाह के पीछे समुद्र में मिला था। इसमें एक हाथ, एक पैर और एक आदमी के जननांगों का एक हिस्सा था।
माहिम दरगाह के समुद्र तट पर मिले सूटकेस में मानव अंगों के साथ एक शर्ट पैंट भी था। शर्ट के कॉलर पर ‘अलामो’ टेलर का निशान था। क्राइम ब्रांच द्वारा टेलर को खोजने के बाद, कुर्ला पश्चिम में बेलग्रामी रोड पर एक अलामो टेलर की दुकान मिल गयी। इसके बाद यह पूरा केस खुलता चला गया।
जगदीश साहिल जो क्राइम ब्रांच यूनिट 5 के प्रभारी हैं उनके निर्देशन में पुलिस निरीक्षक योगेश चव्हाण, सहायक पुलिस निरीक्षक महेंद्र पाटिल और दस्ते ने तकनीकी साक्ष्य के आधार पर प्रेमी युगल को गिरफ्तार किया। पूछताछ में दोनों ने बेनाटो की हत्या की बात कबूल कर ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.