मुंबई के निवासियों को लगातार दो दिनों से बारिश के बाद मिली थोड़ी राहत

मुंबई : लगातार दो दिनों से बारिश के बाद मुंबई के निवासियों को शुक्रवार सुबह थोड़ी राहत मिली और शहर तथा उसके उपनगरों में बारिश बंद हुई।

नगर निकाय के अधिकारियों ने बताया कि उपनगरीय ट्रेनों और बसों के साथ ही शहर में परिवहन सेवाएं सामान्य दिनों की तरह चल रही हैं।

दक्षिण-पश्चिम मानसून ने मुंबई में दस्तक दी थी जिससे कारण बुधवार को भारी बारिश हुई और सड़कों तथा रेल की पटरियों पर जल भराव के कारण उपनगरीय ट्रेन सेवाएं बाधित हो गयीं। मुंबई में इस साल के मानसून की पहली बारिश से विभिन्न इलाकों में जल भराव भी हो गया।

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटों में मुंबई के पूर्वी उपनगरों में 51.76 मिलीमीटर बारिश हुई। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि दो दिनों से लगातार बारिश के बाद शहर और उसके उपनगरों में सुबह करीब नौ बजे बारिश रुकी और धूप खिली।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बुधवार को मुंबई के लिए ‘‘ओरेंज अलर्ट’’ जारी करते हुए रविवार तक कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश का अनुमान जताया था।

शुक्रवार दोपहर करीब 12 बजकर 54 मिनट पर समुद्र में 4.34 मीटर ऊंची लहरें उठने की संभावना थी जिसके लिए नगर प्रशासन ने तैयारी कर रखी थी बारिश के रुकने से उन्होंने भी राहत की सांस ली।

अधिकारियों ने बताया कि मुंबई में मूसलाधार बारिश के कारण बुधवार को मकान ढहने की दो अलग- अलग घटनाओं में करीब 13 लोगों की मौत हो गई जिनमें आठ बच्चे भी शामिल हैं। एक घटना उपनगरीय इलाके दहीसर तो दूसरी मलवानी की है।

इस बीच, पश्चिम रेलवे के मुख्य प्रवक्ता सुमित ठाकुर ने कहा, ‘‘पश्चिमी रेलवे के उपनगर सेक्शन पर शुक्रवार को रेलगाड़ियां सामान्य रूप से चल रही हैं।’’

मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने कहा कि रेल की पटरियों में खराबी के कारण रात करीब साढ़े नौ बजे ठाणे-मुलुंड के बीच मुख्य लाइन पर उपनगरीय सेवाएं बाधित हुई लेकिन इसका बारिश से कोई संबंध नहीं था।

बीएमसी अधिकारियों के मुताबिक, आईएमडी ने अगले 24 घंटों के लिए शहर और उपनगरों में मध्यम बारिश का अनुमान जताया है और साथ ही कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की आशंका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.