औरंगाबाद शहर ‘अनलॉक’, ग्रामीण इलाके में पाबंदियां बरकरार

औरंगाबाद : महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में वाणिज्यिक और अन्य सार्वजनिक स्थल सोमवार को खुल गए। साप्ताहिक संक्रमण दर और ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता के आधार राज्य सरकार ने औरंगाबाद शहर को श्रेणी-एक की सूची में रखा है।

हालांकि, औरंगाबाद जिले के ग्रामीण इलाके में संक्रमण दर ज्यादा रहने के कारण पाबंदियां लागू हैं क्योंकि ‘अनलॉक’ योजना के तहत ये इलाके श्रेणी तीन में आते हैं। शहर में जरूरी और गैर जरूरी सामानों की दुकानों, रेस्तरां, मॉल, थियेटर, निजी कार्यालयों को खोलने की अनुमति दी गयी है। सरकारी आदेश के मुताबिक जिन शहरों में संक्रमण दर पांच प्रतिशत और 75 प्रतिशत ऑक्सीजन बेड खाली हैं उन्हें श्रेणी एक में रखा गया है। श्रेणी तीन के तहत ऐसे इलाके आते हैं, जहां संक्रमण दर पांच प्रतिशत से 10 प्रतिशत के बीच है और 60 प्रतिशत ऑक्सीजन बेड खाली हैं।

जिला प्रशासन द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, औरंगाबाद शहर में संक्रमण दर 2.24 प्रतिशत है और 22.19 प्रतिशत ऑक्सीजन बेड पर मरीज हैं। लेकिन, जिले के दूसरे हिस्से में संक्रमण दर 5.46 प्रतिशत है और 20.34 प्रतिशत ऑक्सीजन बेड पर मरीज हैं। शहर में कर्फ्यू या निषेधाज्ञा लागू नहीं है और यात्रा के लिए ई-पास की भी जरूरत नहीं है। वहीं, ग्रामीण इलाकों में शाम पांच बजे के बाद आवाजाही पर पाबंदी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.