आईएएस अधिकारियों ने अदालत की अवमानना के मुद्दे पर मुख्यमंत्री से लगाई गुहार

अमरावती:भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस)के आंध्र प्रदेश के अधिकारी इन दिनों काफी परेशान हैं, क्योंकि उच्च न्यायालय द्वारा अवमानना की कार्रवाई उनके लिए गले की फांस बन चुकी है और जिससे समूचा प्रशासनिक तंत्र हलकान है।

आंध्र प्रदेश आईएएस एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी के समक्ष यह मामला रखा है और तत्काल कदम उठाने की मांग की है।

अदालत ने 31 मार्च को आठ आईएएस अधिकारियों को अवमानना का दोषी पाया और उन्हें एक साल तक कल्याणकारी छात्रावास में सामाजिक सेवा करने का आदेश दिया। हाल ही में एक युवा आईएएस अधिकारी को अवमानना मामले में छह महीने जेल की सजा सुनाई गई थी, हालांकि वह अधिकारी उस मामले में कभी पक्षकार नहीं था।

पिछले साल पांच अधिकारियों को अवमानना का दोषी पाया गया था और जेल की सजा सुनाई गई थी, हालांकि बाद में उसे निलंबित कर दिया गया था।

आईएएस एसोसिएशन ने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया है और मुख्यमंत्री से त्वरित कदम उठाने की मांग की है। वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों का एक शिष्टमंडल हाल में मुख्यमंत्री से मिला और उनसे कहा कि जो हो रहा है वह ठीक नहीं है और “किसी के हित में नहीं है।”

नहीं है, बल्कि जो हो रहा है उससे पूरी व्यवस्था चरमरा रही है। इसे जल्दी ठीक करना होगा।” उन्होंने कहा, “किसी एक अधिकारी को सजा मिलना पूरी सरकार को सजा मिलने के बराबर है।”