महाराष्ट्र : दोष सिद्धि प्रतिशत का ब्यौरा पुलिस आयुक्तालय प्रतिशत

मुंबई : कोई अपराध घटने के बाद उस घटना की बारीकी से जांच कर न्यायालय में दोषारोप पत्र प्रस्तुत करने के बाद आरोपियों को सजा होने के मामले में अमरावती पुलिस आयुक्तालय राज्य में दुसरे स्थान पर है. राज्य में मिरा भाईन्दर पुलिस आयुक्तालय दोष सिद्धि में प्रथम, तो राज्य की उपराजधानी नागपुर आयुक्तालय 6वें नंबर पर है. राज्य में अपराध सिद्ध कराने में टॉप 5 आयुक्तालयों में विदर्भ से अमरावती आयुक्तालय एकमात्र आयुक्तालय है.

आईपीसी अंतर्गत संपूर्ण महाराष्ट्र में पुलिस आयुक्तालय अंतर्गत दोष सिद्धि में अमरावती आयुक्तालय का प्रतिशत 58.48 है. हाल ही में इस वर्ष के दोष सिद्धि का ब्यौरा प्रकाशित हुआ. जिसमें हाल ही में बने मिरा भाईन्दर पुलिस आयुक्तालय मेें राज्य में पहला स्थान हासिल किया. अमरावती पुलिस आयुक्तालय इस सूची में दुसरे नंबर पर है. नासिक पुलिस आयुक्तालय दोष सिद्धि के मामले में अंतिम पायदान पर है.

नासिक पुलिस आयुक्तालय दोष सिद्धि के मामले में अंतिम पायदान पर है.पुलिस थाने में अपराध दर्ज होने के बाद व दोषारोप पत्र तैयार करने तक जांच अधिकारी बदलते रहते है. जिससे जांच में नियमितता नहीं रहती. कुछ अधिकारी केवल जाचं के नाम पर औपचारिकता निभाते है. जिससे ऐसे मामले कोर्ट में टीक नहीं पाते. दोष सिद्धि का प्रतिशत बढाने के लिए पुलिस अधिकारियों को गंभीर रहना जरुरी होता है. अन्यथा कोर्ट से आरोपियों के छूटने की संभावना अधिक रहती है. दोष सिद्धि प्रतिशत का ब्यौरा पुलिस आयुक्तालय प्रतिशत मिरा भाईन्दर 89.63 अमरावती 58.48 नई मुंबई 54.74 मुंबई शहर 52.18 नागपुर 51.63