भाजपा की मान-मनौव्वल में क्यों जुटी शिवसेना?


Rokthok Lekhani

मुंबई : महाराष्ट्र विधानसभा का दो दिन का मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू होने जा रहा है। दो दिन का सत्र बगैर शोर-शराबे के साथ बीत जाए, इसके लिए शिवसेना भाजपा की मान मनौव्‍वल में जुटी हुई है। रविवार को शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि विपक्षी दल बीजेपी के मन में अगर महाराष्ट्र के लोगों का हित है तो उसे मानसून सत्र सुगमता से चलने देना चाहिए।
पत्रकारों से बातचीत में राउत ने कहा,‘हल्ला-हंगामा सरकार को घेरने का सही तरीका नहीं है। दूसरा पक्ष भी ऐसे हथकंडे अपना सकता है।

इससे टीकाकरण, कोविड-19, बेरोजगारी और अर्थव्यवस्था की समस्याएं नहीं सुलझेंगी।’उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार के पास चर्चा के लिए कई मुद्दे और जनता की कई समस्याएं हैं। राज्य सभा सदस्य ने कहा, ‘भाजपा अगर राज्य के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध महसूस करती है तो वह विधानसभा सत्र चलने देगी। राज्य को लोग चाहते हैं कि दो दिन का सत्र शोर-शराबे की भेंट ना चढ़े।’

शनिवार को भाजपा नेता आशीष शेलार के साथ अपनी मुलाकात की खबर पर राउत ने कहा, ‘इस तरह की अफवाहें जितनी ज्यादा फैलेंगी, एमवीए गठबंधन उतना ही मजबूत होगा।’ शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने कहा, ‘हमारे बीच राजनीतिक और वैचारिक मतभेद हो सकता है, लेकिन अगर हम सार्वजनिक कार्यक्रमों में आमने-सामने आते हैं तो दुआ-सलाम जरूर करेंगे। मैं शेलार के साथ सबके सामने भी कॉफी पीता हूं।’

महाराष्ट्र सरकार केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव लाने पर विचार कर रही है, इस संबंध में राउत ने कहा कि अगर महा विकास अघाडी ऐसा प्रस्ताव रख रही है तो इसका अर्थ है कि गठबंधन की तीनों पार्टियां उसका समर्थन कर रही हैं। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में सत्तासीन महा विकास अघाडी (एमवीए) गठबंधन में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), कांग्रेस और शिवसेना शामिल हैं।

Click to follow us on Google News
Click to Follow us on Google News

Click to Follow us on Daily Hunt

Leave a Reply

Your email address will not be published.