1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट के मोस्ट वॉन्टेड की कराची में मौत

मुंबई शहर में साल 1993 में हुए सीरियल बम ब्लास्ट के आरोपी और साजिशकर्ता सलीम गाज़ी की पाकिस्तान में मौत हो गई है। मुंबई पुलिस सूत्रों के मुताबिक गाज़ी की मौत शनिवार को दिल का दौरा पड़ने से हुई है। इस ब्लास्ट में 250 लोगों की मौत हुई थी और 700 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

आपको बता दें कि सलीम गाजी अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा शकील का खासम खास माना जाता था। वह बीते कई दिनों से वह बीते कुछ सालों से बीमार भी चल रहा था। उसे हाई ब्लड प्रेशर समेत अन्य बीमारियां भी थीं। वो छोटा शकील के अवैध कारोबार को संभालने का काम करता था।

1993 बम धमाकों के बाद कई दाऊद गैंग के छोटा शकील, टाइगर मेनन और उसके परिवार की तरह सलीम गाजी भी भारत छोड़कर दुबई भाग गया था। हिंदुस्तानी एजेंसियों की नज़र से दूर रहने के लिए उसने कई बार अपना ठिकाना भी बदला था।

आपको बता दें कि सलीम गाज़ी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया था। इंटरपोल के अधिकारी लगातार उसे पकड़ने की कोशिशों में भी जुटे हुए थे। हालांकि बार-बार अपना ठिकाना बदलते रहने की वजह से गाजी हमेशा एजेंसियों की पकड़ से दूर ही रहा। सलीम गाज़ी के अलावा कुछ दिन पहले छोटा शकील के खास आदमी फहीम मचमच की भी मौत हो गई थी।

सलीम गाज़ी को साल 1993 के बम धमाकों का मास्टरमाइंड माना जाता था। उसे दाऊद इब्राहिम के भी करीबी व्यक्तियों में से एक माना जाता था। दाऊद के राइट हैंड छोटा शकील इशारे पर वह डी कंपनी की आपराधिक गतिविधियों को आगे बढ़ाने का काम करता था। आपको बता दें कि साल 2007 में जब 1993 बम धमाकों का फैसला हुआ था। उस समय टाडा अदालत ने याकूब मेमन समेत सौ आरोपियों को दोषी और 23 लोगों को निर्दोष करार दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.