मुंबई के एक शख्स ने 7 हजार कमाने के चक्कर में गंवा दिए 63,500 रुपये

Rokthok Lekhani

भायंदर : इन दिनों आम जनता साइबर क्राइम का सबसे ज्यादा शिकार हो रही है. साइबर ठग भोले-भाले लोगों को उलझाकर उनके खातों से लाखों रुपए की रकम पार कर देते हैं. हाल ही में मुंबई का एक व्यक्ति साइबर जालसाजी का शिकार हो गया. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई के रहने वाले एक 24 साल के व्यक्ति ने ऑनलाइन मार्केटप्लेस पर अपने पुराने लोहे के सोफे को बेचने के लिए एड डाला था. इस एड के बहाने साइबर जालसाजों ने ग्राहक बनकर व्यक्ति से 63,500 रुपये ठग लिए.

ठगी के इस मामले में मीरा-भयंदर वसई-विरार कमिश्नरेट के नवघर थाने में FIR दर्ज की गई है. केस दर्ज होने के बाद पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है. बता दें कि कुछ दिन पहले भी एक 19 साल के छात्र ने पुराने सोफे को ऑनलाइन बेचने के लिए ऐड डाला था. जालसाजों ने छात्र से 1.68 लाख रुपये ठग लिए थे.

पीड़ित भयंदर (पूर्व) का रहने वाला है और स्थानीय नगर पालिका में लैब ऑपरेटर का काम करता है. शख्स ने 16 जुलाई को एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस पर पुराने लोहे के सोफे को 7,000 रुपये में बेचने के लिए ऐड डाला था. उसी रात जालसाज ने अंधेरी के एक फर्नीचर की दुकान का मालिक बताकर उसे फोन किया. जालसाज ने कहा कि वह सोफा खरीदना चाहता है और उसने पीड़ित के मोबाइल फोन पर एक क्यूआर कोड भेजा. जालसाज ने पीड़ित को क्यूआर कोड स्कैन करने और ई-वॉलेट से 1 रुपये भेजने के लिए कहा और उससे कहा कि उसे 2 रुपये वापस मिलेंगे. पीड़ित ने क्यूआर कोड को स्कैन किया और 1 रुपये भेजा. जिसके बाद उसके बैंक खाते में 2 रुपये आ भी गए.

फिर जालसाज ने पीड़ित से 3,500 रुपये भेजने के लिए कहा, जालसाज ने कहा उसे फौरन 7,000 रुपये मिलेंगे. शिकायतकर्ता ने उस पर भरोसा किया और पैसे भेज दिए. जिसके बाद जालसाज ने पीड़ित से कहा कि कुछ टेक्निकल प्रॉब्लम आ गई है. इसलिए उसने दूसरा क्यूआर कोड भेजा. इस तरह से जालसाज ने पीड़ित को कई बार क्यूआर कोड भेजे. पीड़ित ने भी हर बार क्यूार कोड स्कैन कर 3500 रुपए जालसाज के अकाउंट में डाल दिए.

जिसके बाद पीडित को बाद में पता चला कि उसके अकाउंट से 63,500 रुपये ट्रांसफर हो चुके हैं. जिसके बाद उसने स्थानीय पुलिस से संपर्क किया. इस मामले में सोमवार को मीरा-भयंदर वसई-विरार आयुक्तालय के नवघर थाने में FIR दर्ज कराई गई है और आरोपी की तलाश की जा रही है.

Click to follow us on Google News
Click to Follow us on Google News

Click to Follow us on Daily Hunt

Leave a Reply

Your email address will not be published.