मुंबई सेंट्रल के एक रेस्तरां को एक आइसक्रीम पर 10 रुपये ज्यादा वसूलने पर 2 लाख रूपये का जुर्माना भरना पड़ा

मुंबई सेंट्रल के एक रेस्तरां को एक आइसक्रीम पर 10 रुपये ज्यादा वसूलने पर 2 लाख रूपये का जुर्माना भरना पड़ा. एक रिपोर्ट के अनुसार शगुन वेज रेस्तरां (Shagun Veg Restaurant) ने 6 साल पहले एक पैकेट पर 10 रुपये ज्यादा वसूले थे, जिसकी शिकायत की गई थी. जिला फोरम (District Forum) ने रेस्तरां पर 2 लाख रुपये जुर्माना और ग्राहक को मुआवजा देने का आदेश दिया है. फोरम के आदेश में कहा गया है कि रेस्तरां 24 सालों से हर रोज करीब 40 से 50 हजार रुपये कमा रहा है, जो Maximum Retail Price (MRP) से अधिक चार्ज करके कमाया गया लाभ है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार रेस्तरां ने पुलिस के सब इंस्पेक्टर भास्कर जाधव से आइसक्रीम के एक फैमली पैक पर 165 रुपये की जगह 175 रुपये वसूल किये थे. साल 2015 में जाधव ने इसकी शिकायत दक्षिण मुंबई जिला उपभोक्ता विवाद निवारण फोरम में की थी. अपनी शिकायत में जाधव ने कहा कि वह 8 जून 2014 की रात को डीबी मार्ग पुलिस स्टेशन (DB Marg police station) से घर जा रहा था. इस दौरान वह रेस्तरां में रुके और परिवार के लिए आइसक्रीम खरीदी.

जाधव ने बताया कि उन्होंने एक ही कीमत में 2 फैमिली पैक ख़रीदे लेकिन 10 रुपये अतिरिक्त चार्ज देखकर वह हैरान हो गए. जाधव ने अपनी शिकयत में जिला ग्राहक फोरम को बताया कि उन्होंने इस बारे में रेस्तरां से भी बात की लेकिन वहां किसी ने उनकी बात नहीं सुनी. रेस्तरां ने अपने जवाब में कहा कि आइसक्रीम को स्टोर करने के लिए 10 रुपये अधिक कीमत वसूली गई थी.

जिला मंच ने कहा कि जाधव ने रेस्तरां की किसी भी सर्विस का लाभ नहीं उठाया जैसे कि वेटर से पानी मांगना, फर्नीचर का इस्तेमाल करना, पंखे या एयर कंडीशनर के नीचे खुद को ठंडा करना आदि. चूंकि माउथ फ्रेशनर आमतौर पर बिल के साथ परोसा जाता है. इसलिए फोरम ने कहा कि एक्स्ट्रा चार्ज वसूलना गलत था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.