ADV गुणरत्न सदावर्ते ST बैंक चुनाव लड़ने किए संगठन की तय्यारी

मुंबई : एडवोकेट गुणरत्न सदावर्ते एसटी कॉर्पोरेशन के बैंक चुनाव के जरिए राकांपा के खिलाफ तुरही फूंकने की तैयारी कर रहे हैं। एसटी कॉर्पोरेशन का बैंक वर्तमान में एक राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेतृत्व वाले संगठन द्वारा शासित है। अब सवाल यह है कि सदावर्तन के राजनीतिक प्रवेश का यह पहला कदम है या नहीं।

बैंक के लगभग 90,000 सदस्य हैं और एसटी बैंक की राज्य भर में 50 शाखाएँ हैं। यह भी अनुमान है कि एसटी बैंक के पास जमा में 2,000 करोड़ रुपये से अधिक है। पिछले छह महीने से एसटी कर्मचारी बिना वेतन के हैं। इसके चलते जिन कर्मचारियों ने एसटी बैंक से कर्ज लिया है, वे कर्ज की किश्त नहीं चुका पा रहे हैं। इसलिए सरकार ने ऐसे कर्मचारियों को भी एसटी बैंक चुनाव में वोट देने के अधिकार से वंचित कर दिया गया था । सदवर्ते का कहना है हम कोर्ट के माध्य्म से इन लोगो के अधिकारों वंचित नही रहनेड़ेगे वोट डालना कर्मचारियों का अधिकार है ।

बैंक में अपना दबदबा कायम करने के लिए हमें अपने संगठन दबदबे की तलाश करनी होगी। अब यह देखना महत्वपूर्ण होगा कि गुणरत्न सदावर्ते भविष्य में वर्तमान एनसीपी प्रायोजित पैनल को कैसे चुनौती देते हैं।