पूर्व मुंबई कमिश्नर मारिया का एक और दावा- मुझे थी गुलशन कुमार की हत्या की साजिश की जानकारी

मुंबई : अपनी किताब ‘लेट मी से इट नाऊ’ के जरिए मुंबई आतंकी हमले और कसाब को लेकर कई दावे करने वाले मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर राकेश मारिया ने गायक गुलशन कुमार को लेकर नया दावा किया है। मुंबई के पुलिस कमिश्नर रहे राकेश मारिया ने अपनी किताब में मशहूर गायक और टी-सीरीज के मालिक रहे गुलशन कुमार की हत्या को लेकर कहा कि मुंबई पुलिस को इसकी साजिश का पता था, मगर उन्हें नहीं बचाया जा सका।

टाइम्स ऑफ इंडिया ने राकेश मारिया के किताब के हवाले से लिखा है कि उन्हें गुलशन कुमार को मारने की अबु सलेम की साजिश की जानकारी पहले मिल गई थी। उन्होंने दावा किया गुलशन कुमार की हत्या की साजिश के बारे में खबरी ने उन्हें जानकारी दी थी। जब उन्होंने खबरी से पूछा कि इसके पीछे कौन है तो जवाब मिला- अबु सलेम।

यह भी पढ़ें- ‘बहन की शादी के लिए आतंकी कसाब को मिले थे 1.25 लाख रु., भारत में नमाज देख रह गया था दंग’

दरअसल, मारिया उस वक्त डायरेक्टर जनरल के पद पर थे, जब उन्हें 22 अप्रैल 1997 को एक खबरी से कॉल आया और उसने गुलशन कुमार की हत्या की साजिश की जानकारी दी। जब मारिया ने उससे पूछा कि इसके पीछे कौन है तो खबरी ने जवाब दिया- अबु सलेम। खबरी ने यह भी बताया कि गैंगस्टर सलेम ने अपने शूटर्स के साथ गुलशन कुमार को शिव मंदिर जाने के दौरान मारने की पूरी योजना भी बना ली है, क्योंकि गुलशन कुमार हर रोज शिव मंदिर जाते थे।

सुबह में मारिया ने निर्दशक महेश भट्ट को कॉल किया और उन्होंने कुमार से पूछकर पुष्टि की कि वह रोज शिव मंदिर जाते हैं। भट्ट ने गुलशन कुमार को साजिश की बात बता दी। मारिया ने भट्ट को कहा कि वह क्राइम ब्रांच को सूचित कर देंगे और कुमार को जब तक सुरक्षा नहीं मिल जाती, तब तक वह घर से बाहर नहीं निकलेंगे। इसके बाद क्राइम ब्रांच ने कुमार की सुरक्षा बढ़ा दी।

12 अगस्त 1997 को शिव मंदिर से आते वक्त गुलशन कुमार की गोली मार कर हत्या कर दी गई। मारिया ने पाया कि नोएडा में स्थित कुमार के कैसेट फैक्ट्री में उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से सुरक्षा प्रदान करने के बाद मुंबई पुलिस ने उनकी सुरक्षा हटा ली थी।