ऑनलाइन क्लास में विद्यार्थियों की उपस्थिति बढ़ रही, अनुपस्थित विद्यार्थियों की संख्या ८० फीसदी घटी


Rokthok Lekhani

ठाणे : कोरोना से जंग के बीच विद्यार्थियों की पढ़ाई में कोई नुकसान न हो, इसके लिए ठाणे मनपा प्रयासरत रही है। मनपा प्रशासन का यह प्रयास सफल होता दिखाई दे रहा है। ऑनलाइन क्लास में विद्यार्थियों की उपस्थिति बढ़ रही है। ठाणे मनपा के मुताबिक अनुपस्थित विद्यार्थियों की संख्या ८० फीसदी घट गई है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक अनुपस्थित रहनेवाले २,८२१ विद्यार्थियों को फिर से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

बता दें कि पिछले साल ठाणे मनपा के १२० स्कूलों में पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों की संख्या २६ हजार ९६६ थी। कोरोना के चलते मार्च, २०२० से स्वूâल बंद हो गए थे। पढ़ाई का नुकसान न हो, इसके लिए ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली शुरू की गई। जनवरी में जारी आंकड़ों के आधार पर ऑनलाइन शिक्षा से १० हजार ९६६ विद्यार्थियों के वंचित रहने की बात सामने आई। इनमें से अधिकांश छात्र गांव में रहने के चलते वे ऑनलाइन क्लास में भाग नहीं ले पा रहे हैं।

जबकि कुछ छात्रों के पास स्मार्ट फोन भी नहीं थे। ऐसी समस्याओं के कारण ये विद्यार्थी शिक्षा से दूर थे। ठाणे जिले के पालक मंत्री एकनाथ शिंदे ने उन्हें शिक्षा की धारा में लाने के निर्देश दिए थे। इसी के तहत विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं। मनपा विद्यालयों में इस साल ११,८४७ छात्र और १२,६१२ छात्राएं पढ़ रही हैं। कोरोना संक्रमण ने जूम, गूगल मीट, व्हाट्सऐप वीडियो कॉल के जरिए ऑनलाइन पढ़ाई को बढ़ावा दिया है।

इन्हीं प्रयासों के चलते शिक्षा के प्रवाह से दूर हुए १०९६६ विद्यार्थियों में से ८,१४५ विद्यार्थी पुन: ऑनलाइन शिक्षा के प्रवाह में शामिल हो चुके हैं जबकि अभी २,८२१ विद्यार्थी शिक्षा के प्रवाह से दूर है, जिन्हें भी शिक्षा के प्रवाह में लाने का प्रयास किया जा रहा है। मनपा अधिकारियों की मानें तो मनपा विद्यालयों में पढ़नेवाले बच्चों को उनके गांव ले जाया गया है, इसी वजह से उनकी शिक्षा रुकी हुई है। विद्यार्थियों को शिक्षा के प्रवाह में लाने के लिए मनपा द्वारा प्रयास किया जा रहा है।

Click to follow us on Google News
Click to Follow us on Google News

Click to Follow us on Daily Hunt

Leave a Reply

Your email address will not be published.