बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस बोले- नवाब मलिक ने मुंबई के गुनहगारों से जमीन क्यों खरीदी?

Rokthok Lekhani

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक पर अंडरवर्ल्ड से संबंध होने का आरोप लगाया है. फडणवीस ने सवाल उठाया है कि नवाब मलिक ने मुंबई के गुनहगारों से जमीन क्यों खरीदी? क्या मलिक को पता नहीं था? मुंबई बम धमाके में हमने लोगों के चितड़े उड़ते दिखे. ऐसे गुनहगारों से इनके बिजनेस संबंध कैसे?

ड्रग्स रैकेट के आरोपों से घिरे देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने कहा, ‘ऐसी 5 प्रोपर्टी हैं जिसमें 4 लैंड डील्स में सीधे सीधे अंडरवर्ल्ड का एंगल है. ये सभी दस्तावेज मैं कम्पीटेंट ऑथोरिटी को दूंगा और शरद पवार को भी भेजूंगा ताकि उनको पता चले कि उनके नेता क्या गुल खिला रहे थे.’

देवेंद्र फडणवीस ने कहा
सरदार शाहवली खान ये 1993 बम धमाके के गुन्हेगार है. ये लाइफ इम्प्रिजन्मेंट में जेल में है. आरोप है कि टाइगर मेमन की नेतृत्व में फायर ट्रेनिंग में शामिल थे. बीएमसी हेडक्वार्टर्स की रेकी की थी. गाड़ियों में RDX भरनेवालेबये शख्स थे. विटनेसेस की पुष्टि के बाद इन्हें जेल हुई है.

मोहम्मद सलीम इसाक पटेल उर्फ सलीम पटेल: पूर्व गृह मंत्री आर आर पाटिल के साथ फोटो वायरल हुई थी. इनकी दावूद के साथ भी फोटो मिली थी. ये हसीना पार्कर के ड्राइवर और फ्रंट मैन थे. दावूद के गिरफ्तारी के बाद हसीना पार्कर के नाम पर लैंड ग्रेबिंग की प्रॉपर्टी जमा होती थी. उसकी पावर ऑफ अटॉर्नी सलीम पटेल के नाम लर होती थी.

अब कुर्ला के एलबीएस रोड पर 3 एकड़ की जमीन है जिसे गोवा वाला कंपाउंड कहा जाता है. इस जमीन की रजिस्ट्री सॉलिडस नाम की कंपनी के साथ हुआ है. इसकी रजिस्ट्री ओर पावर ऑफ अटॉर्नी होल्डर है सलीम पटेल. दूसरे बिक्री करनेवाले है शाह वली खान. बिक्री हुई है सॉलिडस कंपनी के साथ, ये कंपनी नवाब मलिक के परिवारवालों की है. फराज मलिक ने ये जमीन खरीदी है.

उस समय वहां जमीन का रेट क्या था? 2 हजार प्रति स्क्वेयर फिट के हिसाब से रेट है. लेकिन जमीन का व्यवहार हुआ है केवल 30 लाख रुपये में, जिसमें सिर्फ 20 लाख रुपये दिए है. 15 लाख पावर ऑफ अटॉर्नी होल्डर सलीम पटेल के एकाउंट पर जमा हुए है. सरदार शाहवली को 5 लाख रुपये मिले जिसमे बाकी 5 लाख बाद मेहदी जाएंगे ऐसे बताया.

रजिस्ट्री में अडजुडिकेशन किया और फेक टेनन्ट दिखाया गया. 8500 का रेडी रेकनर रेट, 2000 हजार प्रति स्क्वेयर मीटर का मार्किट रेट. असल मे सिर्फ 25 रुपये प्रति स्क्वेयर मीटर से व्यवहार हुआ. 15 रुपये से खरीदी गई.

Click to Read Daily E Newspaper

Download Rokthok Lekhani News Mobile App For FREE

Click to follow us on Google News
Click to Follow us on Google News

Click to Follow us on Daily Hunt

Leave a Reply

Your email address will not be published.