बीएमसी प्रशासन ने स्पष्ट किया है मुंबईकरों को फिलहाल कोई राहत नहीं मिलेगी

मुंबई में नए कोरोना मरीजों के केस दिन-ब-दिन घट रहे हैं। इससे लोगों में प्रतिबंधों से राहत की आस जाग गई है, लेकिन मुंबईकरों को फिलहाल कोई राहत नहीं मिलेगी। बीएमसी प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि जब तक मुंबई के आस-पास के सटे इलाकों में कोरोना नियंत्रित में नहीं आ जाता, तब तक प्रतिबंधों में कोई ढील नहीं दी जाएगी।
बता दें कि जनवरी के दूसरे सप्ताह से मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट देखी जा रही है। पहले सप्ताह में नए केस 20 हजार के पार चले गए थे, जबकि दूसरे सप्ताह में नए केस 20 हजार के नीचे मिल रहे हैं। इसके साथ ही रिकवरी रेट में भी वृद्धि देखी जा रही है। घटते मामलों के बीच प्रतिबंधों में किसी भी तरह की राहत देने के पक्ष में फिलहाल बीएमसी प्रशासन नहीं है। बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने स्पष्ट किया कि प्रतिबंधों में कोई ढिलाई देने का निर्णय नहीं लिया गया है। भले ही मुंबई में कोरोना के नए मामले कम मिल रहे हों, लेकिन सटे इलाकों में कोरोना का प्रकोप अब भी बना हुआ है। पड़ोसी इलाकों से बड़ी संख्या में लोग नौकरी के लिए मुंबई आते हैं। जब तक पड़ोसी इलाके में कोरोना नियंत्रित में नहीं आ जाता है, तब तक प्रतिबंधों में राहत देने पर कोई निर्णय नहीं होगा।

काकानी ने बताया कि जनवरी के तीसरे सप्ताह में कोरोना के नए मरीजों की संख्या में वृद्धि होने की आशंका विशेषज्ञों ने जताई है। इसके चलते आगामी सप्ताह महत्वपूर्ण है। हालांकि इससे निपटने के लिए बीएमसी ने तैयारी पूरी कर ली है, लेकिन मुंबईकरों को भी सावधानी बरतने की जरूरत है। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग आदि कोविड प्रोटोकॉल का पालन कड़ाई से करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.