जुलाई में मॉनसून की रफ्तार देखेगी बीएमसी, पानी देने वाली झीलों में महज 18% पानी


Rokthok Lekhani

मुंबई : मॉनसून की बेरुखी ने मुंबईकरों के साथ-साथ बीएमसी की भी चिंता बढ़ा दी है। जुलाई के पहले सप्ताह सूखा रहने से बीएमसी को मुंबई में पानी आपूर्ति की चिंता सताने लगी है। तालाब क्षेत्रों में कम बारिश की वजह से मुंबई को पानी आपूर्ति करनेवाले सातों झीलों में सिर्फ 18.44 प्रतिशत पानी रह गया है। यदि जुलाई में मॉनसून ने रफ्तार नहीं पकड़ी, तो बीएमसी पानी आपूर्ति की समीक्षा करेगी। मुंबई को पानी आपूर्ति करनेवाली सातों झीलों मोडक सागर, तानसा, अपर वैतरणा, मध्य वैतरणा, तुलसी, विहार, भातसा में 7 जुलाई की सुबह 6 बजे तक 2 लाख 66 हजार 848 एमएलडी पानी का स्टॉक था।

बीएमसी जलापूर्ति विभाग के चीफ इंजिनियर अजय राठौड ने कहा कि झीलों में पानी के स्टॉक पर बीएमसी की नजर है। हमें उम्मीद है कि जुलाई में झीलों में पर्याप्त पानी का स्टॉक हो जाएगा। अगस्त में झीलों में पानी की स्थिति देखने के बाद पानी कटौती करने या न करने के बारे में निर्णय लेंगे। बता दें कि मुंबई को पानी की आपूर्ति करनेवाली सातों झीलों से प्रतिदिन 3850 एमएलडी पानी की आपूर्ति मुंबई में की जाती है। बीएमसी नियम के अनुसार हरसाल बरसात खत्म होने के बाद 1 अक्टूबर को तालाबों में पानी के स्टॉक समीक्षा की जाती है।

Click to follow us on Google News
Click to Follow us on Google News

Click to Follow us on Daily Hunt

Leave a Reply

Your email address will not be published.