होम आइसोलेशन पर बीएमसी की सख्ती

मुंबई महानगर में कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन और डेल्टा के ज्यादातर मरीज सौम्य लक्षण वाले मिल रहे हैं। इसलिए हॉस्पिटल में एडमिट होने वालों की संख्या काफी कम है। मुंबई में 6 लाख 63 हजार लोग होम क्वारन्टीन हैं। जिन पर बीएमसी का वार्ड वार रूम नजर रखता है और डॉक्टर समय- समय पर सलाह दे रहे हैं। लेकिन कई लोग होम क्वारंटीन नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। जिसकी शिकायत मिलने के बाद बीएमसी अब होम क्वारंटीन में रहनेवालों के खिलाफ सख्त हो गई है, क्योंकि इससे कोरोना का संक्रमण और तेजी से फैलने का खतरा रहता है

बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने कहा कि होम क्वारंटीन का नियम तोड़नेवालों की शिकायत मिलने पर मरीज व उसके संपर्क में आनेवाले लोगों को तुरंत बीएमसी में क्वारंटीन सेंटर में भेज दिया जाएगा। साथ ही ऐसे लोगों के हाथ पर बीएमसी स्टैंप मारेगी। ऐसे लोगों को क्वारंटीन सेंटर में रखने के लोए बीएमसी के पास पर्याप्त बेड खाली है।

बता दें कि मुंबई में 21 दिसंबर से कोरोना की तीसरी लहर शुरू हुई है। कोरोना मरीजों की संख्या एक दिन में 20 हजार को पार कर चुकी है। जिससे मुंबई में एक्टिव मरीजों की संख्या 1 लाख 228 तक पहुंच गई है। इसमें 84 प्रतिशत मरीज सौम्य लक्षण वाले हैं। जो घरों में रह कर इलाज करवा रहे हैं और पांचवें दिन टेस्ट कराने पर ज्यादातर लोग निगेटिव आ रहे हैं।

काकानी ने बताया कि नियम का उल्लंघन करनेवालों के खिलाफ कार्रवाई का अधिकार प्रत्येक वार्ड में फील्ड ऑफिसर को दिया गया है। साथ ही क्वारंटीन नियमों का पालन हो रहा है या नहीं इस पर नजर रखने की जिम्मेदारी सोसायटी के पदाधिकारियों को सौंपी गई है। इससे पहले कोरोना की दोनों लहर में यह नियम मुंबई में लागू थे। दूसरी लहर के दौरान होम क्वारंटीन नियम का उल्लंघन करने पर हेल्थ ऑफिसर ने कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।

महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 46,723 नए मामले सामने आए, जो एक दिन पहले के मामलों से 12,299 अधिक हैं। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि महामारी से 32 और मरीजों की मौत भी हुई है। बुलेटिन में कहा गया कि संक्रमण के नए मामलों में ओमीक्रोन के 86 मामले हैं।

लगातार चार दिन तक रफ्तार थमने के बाद मुंबई में फिर कोरोना का ग्राफ बढ़ा है। पिछले 24 घंटे के दौरान यहां कोरोना वायरस के 16,420 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। यह आंकड़ा एक दिन पहले आए मामलों से करीब 41 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं सात और संक्रमितों की मौत हो गई। उधर दिल्ली में भी कोरोना मामलों में तेज उछाल आया है। यहां 27561 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 40 मरीजों को जान गंवानी पड़ी है। पॉजिटिविटी रेट भी 26.22 प्रतिशत पहुंच गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.