बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे के परिवार को नोटिस जारी किया

मुंबई:मुंबई में शिवसेना शासित बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे के परिवार को नया नोटिस जारी किया है और उन्हें 15 दिन के भीतर जूहू के उनके बंगले में किए गए अनधिकृत निर्माण को हटाने को कहा है।

भारतीय जनता पार्टी भाजपा के नेता राणे की पत्नी और बेटे को 16 मार्च को जारी नोटिस में बीएमसी ने कहा कि अगर मकान के मालिक अनधिकृत निर्माण को नहीं हटाते हैं तो महानगर पालिका उस निर्माण को गिरा देगी और इसमें आए खर्च की वसूली मकान मालिक से करेगी।

बृहन्मुंबई नगर निगम बीएमसी के अधिकारियों के एक दल ने 21 फरवरी को तटीय नियामक क्षेत्र सीआरजेड के नियमों के कथित उल्लंघन को लेकर जुहू इलाके में केंद्रीय मंत्री के स्वामित्व वाले इस बंगले का निरीक्षण किया था।

बीएमसी के पहले के एक नोटिस के जवाब में 11 मार्च को राणे परिवार के प्रतिनिधियों ने आरोपों को खारिज कर दिया था और कहा था कि निगम की कार्रवाई नोटिस जारी करने की शिवसेना द्वारा केन्द्रीय मंत्री और उनके परिवार के खिलाफ ‘द्वेष और राजनीतिक प्रतिशोध से प्रेरित’ है।

वहीं बीएमसी ने इस पर अपने जवाब में कहा कि मकान मालिक से ‘‘कानून के मुताबिक’’ जबाव देने की उम्मीद की जाती है।