महाराष्ट्र में दोबारा स्कूल खोलने पर जल्द आसक्त है फैसला

मुंबई महाराष्ट्र में कोरोना मामलों की रफ़्तार कुछ कम भले हुई हो लेकिन इस बीच राज्य में मौतों के आंकड़े में बढ़ोतरी दर्ज की गयी है। कई जिलों में कोरोना के मामले काफी कम हैं। ऐसी जगहों पर स्कूलों को दोबारा खोलने की मांग भी अभिभावकों की तरफ से उठने लगी है।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि कोरोना और ओमीक्रोन वेरिएंट के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला जल्द लिया जाएगा। अगले 15 दिन में स्थिति की समीक्षा की जाएगी और जिन जगहों पर कोरोना मरीजों की संख्या कम है, वहां स्कूल खोलने के बारे में मुख्यमंत्री फैसला लेंगे

उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले 3 सप्ताह से कोरोना और ओमीक्रोन की संख्या तेजी से बढ़ रही थी, इसलिए राज्य में एक बार फिर स्कूलों को बंद करना पड़ा। लेकिन, अब राज्य के कुछ जिलों में कोरोना मरीजों की संख्या शून्य है, इसलिए कुछ लोगों का कहना है कि विद्यार्थियों का पहले ही बहुत नुकसान हो चुका है और अब स्कूल बंद करना सही नहीं है।

मुंबई से कोरोना को लेकर राहत भरी खबर है। यहां 11 दिन बाद रविवार को प्रतिदिन मिलने वाले कोरोना संक्रमण के नए मामले घटकर 7,895 रह गए, हालांकि इस दौरान 11 और कोविड मरीजों की मौत हो गई। यह जानकारी शहर नगर निकाय की ओर से जारी बुलेटिन में दी गई। खास बात यह है कि ठीक होने वाले लोगों की तादाद नए मरीजों से करीब ढाई गुना ज्यादा है।

महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 41,327 नए मामले सामने आए तथा बीमारी के 29 और मरीजों ने दम तोड़ दिया। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, शनिवार को राज्य में संक्रमण के 42,462 मामले दर्ज किए गए थे। पिछले 24 घंटे के दौरान महाराष्ट्र में 40,386 मरीज संक्रमणमुक्त हुए, जिसके साथ ही अब तक राज्य में 68,00,900 लोग ठीक हो चुके हैं। उपचाराधीन रोगियों की संख्या 2,65,346 है।

राज्य में संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 72,11,810 तथा मृतकों की संख्या 1,41,808 हो गई है। दिनभर में ओमीक्रोन स्वरूप के आठ नए मामले सामने आने के बाद ऐसे मामलों की संख्या बढ़कर 932 हो गई है। राज्य में कोविड-19 संबंधी मृत्यु दर 1.96 प्रतिशत जबकि संक्रमण से उबरने की दर 94.3 प्रतिशत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.