मुंबई के पूर्व एनसीबी निदेशक समीर वानखेड़े जालसाजी के मामले में ठाणे के कोपरी पुलिस थाने में पूछताछ के लिए पेश हुए

मुंबई : मुंबई के पूर्व स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) निदेशक समीर वानखेड़े बुधवार को ठाणे के कोपरी पुलिस थाने में पूछताछ के लिए पेश हुए। उनके खिलाफ महाराष्ट्र के आबकारी विभाग ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। बता दें, समीर वानखेड़े पर आरोप है कि उन्होंने बार लाइसेंस हासिल करने के लिए धोखाधड़ी की थी। इस मामले में महाराष्ट्र हाईकोर्ट ने जहां वानखेड़े को 28 फरवरी तक अंतरिम राहत दी है, वहीं ठाणे पुलिस ने उन्हें 23 फरवरी को बयान दर्ज कराने के लिए समन भेजा था। जानकारी के अनुसार, समीर वानखेड़े और उनके वकील ठाणे के कोपरी पुलिस थाने में बयान दर्ज कराने के लिए सुबह साढ़े ग्यारह बजे पहुंच गए थे।

क्या है मामला: वानखेड़े ने 27 अक्टूबर 1997 को होटल व बार का लाइसेंस प्राप्त किया था। लाइसेंस लेने के लिए 21 वर्ष की आयु की जरूरत थी, लेकिन वानखेड़े उस समय 18 वर्ष से भी कम उम्र के थे इसलिए उनका लाइसेंस रद्द किया गया। वानखेड़े ने इस मामले में ठाणे पुलिस द्वारा प्राथमिकी रद्द करने की मांग करते हुए महाराष्ट्र हाईकोर्ट का रुख किया है। हाईकोर्ट ने उन्हें 28 फरवरी तक अंतरिम राहत दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.