पुलिस पर FIR की मांग पर जामिया छात्रों का एग्जाम बॉयकॉट का ऐलान, VC ने स्थगित की परीक्षाएं

दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) में कुलपति नजमा अख्तर को छात्रों के विरोध का सामना करना पड़ा। दरअसल सैंकड़ों की संख्या में छात्रों ने वीसी कार्यालय का घेराव किया। छात्र 15 दिसंबर को दिल्ली पुलिस द्वारा कैंपस पर किए गए हमले को लेकर जामिया प्रशासन द्वारा दिल्ली पुलिस पर FIR की मांग कर रहे थे। छात्रों ने यह भी कहा कि जबतक दिल्ली पुलिस पर मुकदमा दर्ज नहीं होता, हम परीक्षाओं का बहिष्कार करेंगे। वहीं कुलपति नजमा अख्तर ने आगामी परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है।

छात्रों के प्रदर्शन के बाद कुलपति नजमा अख्तर ने सोमवार को प्रदर्शन कर रहे छात्रों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि 15 दिसंबर को हुई हिंसा के दौरान दिल्ली पुलिस बिना इजाजत के कैंपस में घुसी थी। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस एफआइआर दर्ज नहीं कर रही है। हम कोर्ट जाएंगे। उन्होंने कहा कि पुलिस एफआइआर कब दर्ज करेगी उन्हें नहीं पता।

गौरतलब है कि नागरिकता कानून के विरोध में 15 दिसंबर को दिल्ली में बड़ा प्रदर्शन हुआ था। जामिया से भी बड़ी संख्या में छात्र इस आंदोलन में शामिल हो गए थे। पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद आंदोनल हिंसक हो उठा था। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने जामिया मिलिया के कैंपस में घुसकर छात्रों पर बर्बरता की थी। जिसमें दर्जनों छात्र घायल हुए थे और विश्वविद्यालय को काफी नुकसान भी हुआ था।