विधान सभा चुनावों का बज गया बिगुल 21 अक्टूबर को मतदान

एम.आई.आलम

चुनाव आयोग ने आज महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनावों का एलान कर दिया। दोनों ही राज्यों में एक साथ एक ही चरण में चुनाव होगा। धोषित की गई तारीखों के अनुसार दोनों राज्यों में उम्मीदवारों के नामांकन की आखिरी तारीख 4 अक्टूबर है और 7 अक्टूबर तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकते हैं। 21 अक्तूबर को मतदान होगा और 24 अक्तूबर को परिणामों की धोषणा की जायेगी। इस तरह आगामी दीवाली से पहले ही नई सरकार अस्तित्व में आ जायेगी।
नई दिल्ली में चुनाव आयोग ने प्रेस कान्फ्रेंस में पूरे चुनाव कार्य्रक्रमों की धोषणा की। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने इसकी धोषणा करते हुए बताया कि हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों पर कुल 1 लाख 30 हज़ार ईवीएम का इस्तेमाल किया जायेगा। वहीं महाराष्ट्र में 288 विधानसभा के लिये कुल 1लाख 80 हज़ार ईवीएम का उपयोग होगा। दोनों राज्यों में चुनाव की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई। चुनाव आयोग के अनुसार महाराष्ट्र में कुल 8.94 करोड़ मतदाता है तो हरियाणा में कुल 1.28 करोड़ मतदाता है।
चुनाव आयोग ने महाराष्ट्र और हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए खर्चे पर नजर रखने के वास्ते आयकर विभाग के 110 आईआरएस अधिकारियों को नियुक्त किया है। अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि इन पर्यवेक्षकों को इन दो राज्यों में चुनाव प्रक्रिया के दौरान काले धन के इस्तेमाल और अन्य गैरकानूनी लोभ के इस्तेमाल की जांच करने का काम दिया जाएगा।
केंद्रीय चुनाव आयोग ने यहां 23 सितंबर को इन अधिकारियों को बुलाया है, जहां उन्हें इस संबंध में जानकारी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) से इन अधिकारियों को उनके प्रभार से मुक्त करने के लिए कहा ताकि उन्हें चुनावी ड्यूटी में लगाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.