महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने मुंबई तटीय सड़क टनल बोरिंग की शुरुआत की

मुंबई : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई तटीय सड़क परियोजना के लिए सोमवार को ‘टनल बोरिंग मशीन’ (टीबीएम) की शुरुआत की। इसे भारत की सबसे बड़ी ‘टनल बोरिंग मशीन’ बताया जा रहा है।

टीबीएम करीब चार किलोमीटर लंबी सुरंग खोदेगी। यह सुरंग महत्वाकांक्षी तटीय सड़क परियोजना का हिस्सा है, जो मुंबई के पश्चिमी तट को कांदिवली दक्षिण से उत्तर की तरफ मरीन लाइन को जोड़ेगा।

नगर निकाय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सुरंग जून 2022 तक तैयार होने की उम्मीद है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘‘मुख्यमंत्री उद्धव बालासाहेब ठाकरे ने ‘मावला’ की शुरुआत की, जो भारत में सबसे बड़ी टनल बोरिंग मशीन (टीबीएम) है। यह विशाल टीबीएम मुंबई तटीय सड़क परियोजना के लिए सुरंग खोदने का काम करेगी। यह सड़क प्रियदर्शिनी पार्क से शुरू होकर प्रिंसेज स्ट्रीट फ्लाईओवर तक जाएगी।’’

सत्रहवीं सदी के मराठा राजा छत्रपति शिवाजी महाराज के सैनिकों को ‘मावला’ के नाम से जाना जाता था।

टीबीएम की शुरुआत करते हुए ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में 1995 में शिवसेना-भाजपा की जब पहली सरकार बनी तो उसने नागरिकों की यातायात समस्याओं के समाधान के लिए मुंबई में 55 फ्लाईओवर बनवाए।

उन्होंने कहा, ‘‘अब वे पुल भी अपर्याप्त साबित हो रहे हैं। लेकिन तटीय सड़क उपयोगी साबित होगी क्योंकि उपनगरीय क्षेत्रों के लोग महानगर की यातायात का सामना किए बगैर दक्षिण मुंबई तक यात्रा कर सकेंगे।’’

मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि टीबीएम का व्यास 12.19 मीटर है जो ‘‘देश में सबसे अधिक है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.