मुंबई: समुद्र में तेल के खेल में पांच गिरफ्तार और 9 फरार होने का सनसनी खेज मामला प्रकाश में आया

मुंबई। समुद्र में तेल के खेल में पांच गिरफ्तार और 9 फरार होने का सनसनी खेज मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में महाराष्ट्र राशनिंग कंट्रोलर, नवी मुंबई डीसीपी क्राइम और एआरओ ने 6 लाख 87 हजार 500 सौ रूपये सहित दो नाव (बोट) को भी जब्त कर एनआरआई पुलिस के हवाले किया है। इसके अलावा पुलिस और राशनिंग कंट्रोलर की संयुक्त कार्रवाई में 35 हजार 270 रूपये का डीजल भी जब्त किया गया है। फिलहाल दोनों विभागों की टीम फरार आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस और राशनिंग विभाग के सूत्रों कि निशान देही पर दोनों विभागों की टिम 12 जनवरी कि सुबह करीब 9 बजे गेटवे ऑफ इंडिया से विशेष बोट से इस मामले की छानबीन शुरू की। विभागों को यह जानकारी मिली थी कि देश और विदेशों से आने वाली बड़ी-बड़ी पानी जहाजों (शीप) के कर्मचारियों (क्रू मेंबरों) द्वारा चोरी से सस्ते दरों पर डीजल बेचा जाता है। बता दें कि मैजूदा समय में मुंबई में प्रति लिटर डीजल की कीमत लगभग 94 से 95 रूपये है। लेकिन खाड़ी देशों से आने वाले जहाजों के क्रू मेंबरर्स इसे 60 रूपये प्रति लिटर के दर से समुद्र में ही नौका वालों से बेच देते हैं। यानी नौका वालों द्वारा डीजल की काला बाजारी 60 में लिया गया मॉल 75 में बेचते हैं। तेल के इस खेल में नवी मुंबई के उलवे जेट्टी, करंजड़े जेट्टी, नावासीवा और जेएनपीटी क्षेत्रों के नौका मालिकों का समावेश है। इस तरह के खेल गुजरात, केरल और मदरास के तटीय इलाकों में भी होता है।
गौरतलब है कि महाराष्ट्र राशनिंग कंट्रोलर कांनूराज बगोटे, नवी मुंबई के डीसीपी क्राइम सुरेश मेंगडे, मुंबई नेहरूनगर 32 ई राशनिंग के एआरओ सुभाष रामनाथ डुंबरे आदि ने दल बल के साथ डीजल के समुद्री तस्करों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। इसके लिए मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया से सुबह करीब 9 बजे रवाना हुए। इसके बाद समुद्री लहरों में भटकते हुए अधिकारियों का काफला उलवे की खाड़ी में पहुंचा। यहां एक नहीं दर्जनों नौकाएं देखने को मिली। इस परीसर में समुद्र की गहराई का अंदाजा लगाना नामुमकीन था। अधिकारियों ने बताया कि उलवे की खाड़ी में किसी एक नौका का पता लगाना या उसे पकड़ना लोहे के चने चबाने जैसा है। बावजूद इसके भारी मशक्कत के बाद डीसीपी सुरेश मेंघडे और राशनिंग कंट्रोलर ने उलवे जेट्टी और करंजड़े जेट्टी के बीच एक वीरा नामक एक नौका को घेरने में कामयाब रहे। इस नौका से सलीम अब्दुल हमीद शेख, आसीफ नईमुदीदीन वालियान, प्रवीण पंढरीनाथ नाइक, विट्ठल धोंडीबा देवकाते, दत्ता धोंडीबा देवकाते को गिरफ्तार कर लिया गया। इसी तरह दूसरे नौका को भी दोनों विभागों की टीम ने घेर लिया। इस कार्रवाई में 6 लाख 87 हजार 500 सौ रूपये नगद, 35 हजार 270 रूपये का डीजल सहित दो नाव (बोट) को भी जब्त कर एनआरआई पुलिस के हवाले कर दिया। इस मामले को 13 जनवरी के सीआर 17 /2022 अत्यावश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के 3 ,7 , 8 और पेट्रोलियम अधिनियम 1034 के तहत दर्ज किया गया है। इस मामले में आगे की जांच रविंद्र नायकराव पाटील कर रहे हैं।