नवनीत राणा की उद्धव ठाकरे को खुली चुनौती

मुंबई: आखिरकार 3 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहने के बाद महाराष्ट्र के अमरावती जिले से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा अस्पताल से डिस्चार्ज हो गई हैं। अस्पताल से बाहर निकलने के बाद नवनीत राणा ने सीधे महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को खुली चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र की जनता पर अत्याचार कर रहे हैं। अगर उनमें हिम्मत है तो वह चुनाव लड़कर और जीत कर दिखाएं। वह जिस भी जगह से चुनाव लड़ेंगे मैं भी उसी जगह से चुनाव लड़ूंगी।

उसके बाद नतीजों से तय हो जाएगा कि महाराष्ट्र की जनता किसके साथ है। नवनीत राणा यहीं नहीं रुकीं, उन्होंने कहा कि आने वाले बीएमसी चुनाव में वो शिवसेना के खिलाफ प्रचार करेंगी। राणा की इस चुनौती पर शिवसेना का क्या रुख रहेगा? इस पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं। वहीं नवनीत के पति रवि राणा ने भी उद्धव ठाकरे पर हमला बोला है।

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एक महिला से डर गए हैं। उन्हें महाराष्ट्र पुलिस पर भी भरोसा नहीं रहा। इसलिए उन्होंने शिवसेना के गुंडों के जरिए हमारे घर और परिवार पर हमले करवाए। आपको बता दें कि स्पॉन्डिलाइटिस, सीने और गले के अलावा शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द की शिकायत के बाद नवनीत अस्पताल में गुरुवार के दिन भर्ती हुई थीं। आज डिस्चार्ज होकर अस्पताल से बाहर निकलते समय उनके हाथ में हनुमान जी की एक मूर्ति भी थी।

चौदह दिन क्या 14 साल जेल में रह सकती हूं!
अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान नवनीत राणा ने कहा कि हनुमान चालीसा और जय श्री राम बोलने के लिए मैं 14 दिन क्या 14 साल भी जेल में रहने को तैयार हूं। उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो भी किया है। उसका जवाब जनता उन्हें जरूर देगी। राणा ने कहा कि उद्धव ठाकरे को इसके लिए ज्यादा इंतजार भी नहीं करना पड़ेगा। आगामी बीएमसी चुनाव में पब्लिक उन्हें जरूर सबक सिखाएगी। राणा ने कहा कि मैं खुद भी बीएमसी चुनाव में शिवसेना के खिलाफ प्रचार करूंगी।

वहीं नवनीत के पति रवि राणा ने कहा कि हम बहुत जल्द दिल्ली जाकर गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे। हमारे ऊपर जो भी अत्याचार हुआ है, उसकी पूरी जानकारी हम उन्हें देंगे। साथ ही हम यह मांग भी करेंगे कि संजय राउत और अनिल परब के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे को बहुत घमंड है लेकिन घमंड तो रावण का भी नहीं टिका फिर उद्धव ठाकरे क्या चीज हैं। जल्द ही उनकी लंका जलकर खाक हो जाएगी।