ऐल्गार परिषद-माओवादियों से संबंध होने के आरोप में गिरफ्तार गौतम नवलखा को जेल में चश्मा दिए जाने से ‘‘मना’’ करने पर जांच का आदेश

मुंबई: महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने ऐल्गार परिषद-माओवादियों से संबंध होने के आरोप में गिरफ्तार गौतम नवलखा को तालोजा जेल में कथित रूप से चश्मा नहीं दिए जाने के मामले की जांच का आदेश दिया है।

देशमुख ने ट्विटर पर इस आशय की जानकारी दी।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘भीमा-कोरेगांव मामले में आरोपी गौतम नवलखा को जेल प्रशासन ने चश्मा नहीं दिया क्योंकि उन्होंने उनके परिवार से आया पार्सल भी लौटा दिया।’’

उन्होंने लिखा है, ‘‘मैंने इस मामले की जांच का आदेश दिया है। मुझे लगता है कि इसमें संवेदनशीलता दिखानी चाहिए थी, भविष्य में ऐसी घटनाओं के दोहराव से बचना होगा।’’

नवलखा के परिवार के सदस्यों ने सोमवार को दावा किया कि 27 नवंबर को तालोजा जेल में उनका चश्मा चोरी हो गया है।

उन्होंने दावा किया है कि चश्मा के बिना नवलखा लगभग ‘दृष्टिहीन हैं’ इसके बावजूद जब उन्होंने (परिवार ने) इस महीने की शुरुआत में डाक से नया चश्मा भेजा तो जेल प्रशासन ने उसे अस्वीकार कर दिया और वापस भेज दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.