महाराष्ट्र में स्कूल बसों को सालाना वाहन कर में 100 फीसद मिलेगी छूट

मुंबई, कोरोना के चलते महाराष्ट्र कैबिनेट ने निर्णय लिया है कि इस साल सभी स्कूल बसों को सालाना वाहन कर से 100 फीसद छूट मिलेगी और 10 से कम श्रमिकों वाले प्रतिष्ठानों सहित सभी प्रतिष्ठानों के लिए मराठी साइनबोर्ड अनिवार्य होंगे। महाराष्ट्र कैबिनेट के मुताबिक, महिला व बाल अधिकारिता योजनाओं को जिला योजना विकास आयोग से 468 करोड़ रुपये की राशि मिलेगी। इधर, इस वित्तीय वर्ष में बीएमसी का कोविड-19 बिल 1600 करोड़ रुपये को पार कर जाएगा। पिछले साल मार्च से दिसंबर के बीच 1304 रुपये खर्च करने के बाद नागरिक प्रशासन ने 300 करोड़ रुपये और के लिए स्थायी समिति की मंजूरी मांगी है। शहर में कोविड के प्रकोप से निपटने के लिए पिछले नौ महीनों में नागरिक निगम ने 1304 रुपये खर्च किए हैं, ये दस्तावेज स्थायी समिति के सामने रखे जाएंगे। बीएमसी प्रशासन ने मार्च तक अतिरिक्त 300 करोड़ रुपये की भी मांग की है। बिना किसी प्रावधान के बजट में मोटी रकम खर्च की गई है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में बीएमसी ने कोविड प्रबंधन पर 1809 रुपये खर्च किए।
गौरतलब है कि देश में कोरोना की तीसरी लहर का सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र और देश की राजधानी दिल्‍ली में देखने को मिल रहा है। इस बीच, महाराष्ट्र में अब तक कम से कम 481 रेजिडेंट डाक्टर कोविड-19 संक्रमित हो चुके हैं। महाराष्ट्र में लगातार कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है। महाराष्ट्र एसोसिएशन आफ रेजिडेंट डाक्टर्स के अध्यक्ष डा. अविनाश दहीफले ने बताया कि महाराष्ट्र में अब तक कम से कम 481 रेजिडेंट डाक्टर कोविड-19 पाजिटिव पाए गए हैं। महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 34424 नए मामले सामने आए और इस दौरान गुजरात में 7476 लोग संक्रमित पाए गए। महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को संक्रमण के नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कुल मामले बढ़कर 69,87,938 हो गए हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में इस महामारी से 22 मरीजों की मौत हुई है, जिससे मरने वालों की संख्या 1,41,669 हो गई है। अधिकारी ने बताया कि महाराष्ट्र में वायरस के ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमण के 34 नए मामले सामने आए, जिसके बाद ओमिक्रोन वैरिएंट संक्रमण के मामले बढ़कर 1281 हो गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.