ठाणे जिले के भिवंडी उपनगर में इमारत ढहने की घटना को बंबई उच्च न्यायालय ने ने ‘बेहद गंभीर’ बताया

ठाणे : महाराष्ट्र के ठाणे जिले के भिवंडी उपनगर में इमारत ढहने का बंबई उच्च न्यायालय ने बृहस्पतिवार को स्वतः संज्ञान लेते हुए इसे एक “बेहद गंभीर” घटना बताया। मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्त की अध्यक्षता वाली पीठ ने महाराष्ट्र राज्य, बृहन्मुंबई महानगर पालिका तथा भिवंडी-निजामपुर, कल्याण-डोम्बिवली, ठाणे और नवी मुंबई की निकाय संस्थाओं को मामले में प्रतिवादी बनाया है।

अदालत, कल्याण-डोम्बिवली में निर्माण के एक अन्य मामले की सुनवाई कर रही थी जब मुख्य न्यायाधीश दत्त ने कहा कि भिवंडी में की घटना में 40 लोग मारे गए थे और यह “बेहद गंभीर” मसला है। भिवंडी के पॉवरलूम कस्बे में तीन मंजिला इमारत सोमवार को ढह गई थी। मुख्य न्यायाधीश ने कहा, “भिवंडी में एक इमारत ढह गई जिसमें कई लोगों की जान चली गई। हमें बताया गया है कि मुंबई में भी स्थिति गंभीर है।”

उन्होंने कहा, “हम राज्य और सभी निकाय संस्थाओं को प्रतिवादी बना रहे हैं और नोटिस जारी कर रहे हैं।”इसके साथ ही न्यायमूर्ति दत्त ने महाधिवक्ता आशुतोष कुम्भकोणी को निर्देश दिया कि वह सुनिश्चित करें कि राज्य और निकाय संस्थाओं द्वारा जवाब दाखिल किया जाए।
अदालत ने घटना का स्वतः संज्ञान लेते हुए कहा कि दो सप्ताह के भीतर जवाब दाखिल हो जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.