बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों से मराठी साइन बोर्ड नियम का पालन करने को कहा

मुंबई : बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने बुधवार को शहर की सभी दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों को देवनागरी लिपी में मराठी में बड़े-बड़े अक्षरों में लिखे साइन बोर्ड लगाने को कहा है।

चुनावी वर्ष में यह निर्देश जारी करते हुए शिवसेना शासित नगर निकाय ने यह भी कहा कि शराब के ठेके या बार महान शख्सियतों या ऐतिहासिक किलों के नाम नहीं लिखें। यदि किसी दुकान या व्यापारिक प्रतिष्ठान के साइन बोर्ड एक से अधिक लिपि में लिखे हों तो देवनागरी नाम बड़े अक्षरों में होने चाहिए।

बीएमसी ने निर्देश में यह भी कहा कि संशोधित महाराष्ट्र दुकान एवं प्रतिष्ठान ( नियोजन एवं सेवा शर्तें) अधिनियम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

देश के सबसे संपन्न नगर निकाय बीएमसी के चुनाव इस साल होने हैं। दुकानों पर मराठी साइन बोर्ड शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) जैसे दलों के लिए एक राजनीतिक मुद्दा रहा है।