मुंबई के डब्बा वाले बोले- बजट ने निराश किया

मुंबई: केंद्र सरकार ने आज बजट की घोषणा कर दी है। हालांकि इस बजट से मुंबईकर कुछ ज्यादा खुश नजर नहीं आ रहे हैं। बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए मुंबई के वर्ल्ड फेमस डब्बे वालों ने कहा इस बजट से हमें काफी आशा थी लेकिन सिवाय निराशा के हाथ कुछ भी नहीं लगा है। डब्बावाला संघटन के सुभाष तलेकर ने कहा कि एक तरफ कोरोना ने पहले ही लोगों के रोजगार छीन लिए हैं, वहीं दूसरी तरफ जनता महंगाई की मार से त्रस्त है। डीजल, पेट्रोल और जीवन आवश्यक दवाइयों के दाम लगातार बढ़ रहे थे। ऐसे में हमें उम्मीद थी कि सरकार महंगाई पर जनता को कुछ राहत जरूर देगी लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।

महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने बजट पर से बातचीत करते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाया गया बजट देश को बर्बादी की राह पर ले जाने वाला है। उन्होंने कहा कि इस बजट में महंगाई के मुद्दे को हल करने का कोई भी प्रयत्न नहीं किया गया। देश के अन्नदाता यानी किसान किसानों को भी कोई लाभ नहीं दिया गया। इस बजट के जरिए एक बार फिर से मोदी सरकार ने देश की सार्वजनिक संपत्तियों को बेचने का खाका तैयार कर लिया है। बीते 7 सालों से जिस तरह से मोदी सरकार देश की जनता को गुमराह कर रही है, इस बजट में भी उन्होंने वही किया है। बजट में सरकार कर्मचारियों और छोटे व्यापारियों को भी भूल गयी है। सरकार इस बजट के जरिये निजिकरण की अपनी मुहिम को आगे बढ़ा रही है।

केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किए गए बजट का बीजेपी सांसद मनोज कोटक ने स्वागत किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि हमें विजनरी और बोल्ड होना पड़ेगा, जैसे कि पीएम मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण हैं। उन्होंने कहा कि अगले 25 सालों की रूपरेखा भी इस बजट में तय कर दी गई है। यह बजट आत्मनिर्भर भारत का बजट है।

मनोज कोटक ने कहा कि यह बजट रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर को भी बढ़ाने वाला होगा। 400 नई जनरेशन की वंदे मातरम ट्रेन के जरिए यात्रियों को बेहतर सुविधा अगले 3 सालों में उपलब्ध करवाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.