महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ CBI द्वारा दर्ज किए गए मामले में पहली गिरफ्तारी हुई कथित मिडलमैन को किया अरेस्ट

The first arrest in the case registered by the CBI against former Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh alleged middleman arrested

Rokthok Lekhani

Click to Read Today’s E Newspaper ,,

मुंबई : महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है. दरअसल, पूर्व मंत्री अनिल देखमुख के खिलाफ सीबीआई (CBI) द्वारा दर्ज किए गए मामले में रविवार को पहली गिरफ्तारी हुई है. सीबीआई ने मुंबई के ठाणे से संतोष शंकर जगताप को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही इस मामले में सीबीआई को संतोश शंकर जगताप की 4 दिनों की कस्टडी भी मिल गई है.

सूत्रों के हवाले से दी गई जानकारी के अनुसार, अनिल देशमुख के खिलाफ दर्ज किए गए मामले में सीबीआई ने रविवार को पहली गिरफ्तारी करते हुए संतोष शंकर जगताप को अरेस्ट किया. संतोष शंकर जगताप को इस मामले में मिडलमैन बताया गया है. पूर्व गृह मंत्री देशमुख मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के सनसनीखेज आरोपों के बाद से ही मुश्किल में चल रहे हैं.

हाल ही में सीबीआई ने कॉन्फिडेंशियल डॉक्युमेंट्स लीक मामले में अनिल देशमुख के कई ठिकानों पर छापा मारा था. केंद्रीय जांच एजेंसी अनिल देशमुख के नागपुर और मुंबई के ठिकाने पर पहुंची थी और फिर जरूरी कागजातों के लिए सर्च किया था. वहीं, 2 सितंबर को जांच एजेंसी ने अनिल देशमुख के वकील आनंद दागा और अपने ही सब इस्पेक्टर अभिषेक तिवारी को भी अरेस्ट किया था.

इससे पहले, बॉम्बे हाईकोर्ट ने शुक्रवार को ईडी द्वारा महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को कथित मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार के एक मामले में जारी किए गए समन के खिलाफ लगाई गई याचिका को खारिज कर दिया है. पीठ ने ईडी और सीबीआई को किसी भी दंडात्मक कार्रवाई को करने से रोकने की देशमुख की अपील को भी खारिज कर दिया. पीठ ने कहा था कि अनिल देशमुख अदालत में यह साबित करने में असफल रहे है कि उनकी जांच करने और उन्हें पूछताछ के लिए बुलाने में दो केंद्रीय एजेंसियां दुर्भावनापूर्ण तरीके से काम कर रही थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.