3 जनवरी से किशोरों का वैक्सीनेशन मुंबई में किशोर कहां लगवा सकते हैं टीका

मुंबई
मुंबई सहित पूरे देशभर में 15 से 18 वर्ष आयु के वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत कल यानि सोमवार, 3 जनवरी से शुरू हो रही है। बीएमसी के 9 जंबो कोविड सेंटरों के अलावा निजी अस्पतालों में भी किशोर वर्ग अपना टीकाकरण करवा सकते हैं। किशोरों के टीकाकरण अभियान में शामिल होने के लिए निजी अस्पताल वाले आगे आए हैं। मुंबई में सरकारी वैक्सीनेशन केंद्रों के अलावा 150 निजी वैक्सीनेशन सेंटर्स हैं।

बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी के अनुसार मुंबई में 150 निजी वैक्सीनेशन सेंटर्स में से एक फीसद सेंटर्स के पास को-वैक्सीन उपलब्ध है। ये सभी वैक्सीनेशन सेंटर्स बीएमसी के पास किशोरों के टीकाकरण के लिए अलग से सत्र शुरू करने के निवेदन देना शुरू कर दिया है। सुराणा अस्पताल के सीईओ प्रिंस सुराणा ने बताया कि उनके पास को-वैक्सीन का स्टॉक उपलब्ध है और 3 जनवरी से उनके सभी अस्पतालों में किशोरों का टीकाकरण किया जाएगा।
फोर्टिस अस्पताल के जोनल डायरेक्टर डॉ. एस. नारायणी ने बताया कि फोर्टिस के सभी अस्पतालों में किशोरों के टीकाकरण के लिए सभी व्यवस्था की जाएगी। वैक्सीनेशन के हर स्टेज पर फोर्टिस अस्पताल लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए तैयार रहा है। किशोरों के टीकाकरण अभियान में भी फोर्टिस शामिल रहेगी।

श्रीसिद्धि हॉस्पिटल के सीईओ डॉ. संतोष तिवारी ने बताया कि उनका अस्पताल भी किशोरों के टीकाकरण अभियान में शामिल रहेगा। किशोरों के टीकाकरण के लिए बीएमसी द्वारा दिए गए जारी दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

किशोरों को टीका लगाने की मुहिम से पीडी हिंदुजा भी जुड़ रहा है, अस्पताल के सीईओ गौतम खन्ना के अनुसार जल्द ही स्कूल और कॉलेज शुरू होने वाले हैं, ऐसे में 15 से 18 वर्ष आयु के किशोरों का टीकाकरण करने का केंद्र सरकार ने उचित निर्णय लिया है। उन्होंने बुजुर्गों और हेल्थकेयर व फ्रंट लाइन वर्कर्स को प्रिकॉशन डोज दिए जाने के फैसले का भी स्वागत किया है। उन्होंने बताया कि उनके अस्पतालों में किशोर वर्ग 3 जनवरी से टीकाकरण करा सकता है।

बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी के अनुसार मुंबई में 15 से 18 आयु वर्ग के करीब 9 लाख लाभार्थी हैं। किशोरों के टीकाकरण के लिए बीएमसी ने 9 जंबो टीकाकरण केंद्रों का चयन किया है, जिसमें 5 बूथ अलग बनाए गए हैं। इन केंद्रों के जरिए रोजाना 4500 लाभार्थियों का टीकाकरण करने का लक्ष्य बीएमसी ने रखा है। इसके अलावा जिन निजी अस्पतालों में को-वैक्सीन का स्टॉक है, वहां भी किशोरों के टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध होगी।
राज्य के टीकाकरण अधिकारी डॉ. सचिन देसाई के मुताबिक 60 लाख किशोरों की सुरक्षा को देखते हुए राज्य स्वास्थ्य विभाग ने इनके टीकाकरण के लिए अलग से 650 केंद्र बनाए हैं। टीकाकरण केंद्रों पर भी रजिस्ट्रेशन कराने का विकल्प उपलब्ध रहेगा। अभिभावक अपने बच्चों के साथ आ सकते हैं, उनकी उपस्थिति में बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.