प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या का प्रयास करने वाली पत्नी को मिली दो साल की सज़ा

कोल्हापुर :अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या का प्रयास करने वाली पत्नी के उपर दोष साबित होने के बाद आरोपी पत्नी शोभा तानाजी पाटिल उम्र 35, उसका प्रेमी राजेन्द्र बालासो विटेकर उम्र 28 और प्रेमी के दोस्त विनायक जाधव 39 को मुख्य जिला व सत्र न्यायधीश श्री एन वी न्हावकर ने सजा सुनाई। मुख्य आरोपी शोभा तानाजी और उसके प्रेमी राजेन्द्र बालासो विटेकर को दो साल की कठोर कारावास के साथ साथ 5 5 हज़ार का आर्थिक जुर्माना, विनायक जाधव को 6 माह की साधारण कारावास की सजा सुनाई गई है। सरकारी वकील मंजू शाह पाटिल ने आरोपियों को अंजाम तक पहुंचाया।
घटना के बारे में बताया जाता है कि तानाजी पाटिल अपनी पत्नी शोभा पाटिल और दो बच्चों के साथ हंसी खुशी रहता था। आरोपी शोभा पाटिल और राजेन्द्र विटेकर नज़दीकी रिश्तेदार थे इन दोनों में प्रेम संबंध हो गया। इन दोनों को अपने प्रेम को परवान चढ़ाने में तानाजी पाटिल विलेन लगने लगा। इसलिये इन दोनों प्रेमी युगल ने तानाजी पाटिल को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। अपने प्लान को परवान चढ़ाने के लिये राजेन्द्र विटेकर ने अपने दोस्त विनायक जाधव से मदद मांगी।
अपने प्लान को अंजाम देने के लिये राजेनद्र और विनायक रस्सी और पतरे का बक्सा लेकर तानाजी के घर पहुंच गये। राजेन्द्र ने तानाजी जब गहरी नींद सो रहा था तो गले में रस्सी डाल गला घोंटकर मारने का प्रयास किया उस समय उसका दोस्त विनायक तानाजी का पांव पकड़े हुए था। अपने आप को बचाने के लिये तानाजी ने हाथ पैर मारे और जोर जो़र से चिल्लाने लगे। चीख पुकार सुन आस पड़ोस के लोग इकटठा हो गये। और तानाजी की जान बच गई।
तानाजी पाटिल ने 2014 में शाहूपुरी पुलिस ठाणे में पत्नी शोभा, उसके प्रेमी विटेकर, और उसका दोस्त विनायक जाधव के खिलाफ मामला दर्ज कराया। शाहूपूरी पुलिस ठाणे के तत्कालीन पुलिस निरीक्षक विनायक सरवदे, सहायक पुलिस निरीक्षक संगीता पाटिल, हवलदार संदीप आबिटकर ने जांच पड़ताल कर आरोपी के खिलाफ चार्जशीट न्यायालय में दायर की। सरकारी पक्ष की ओर से 19 लोगों की गवाही हुई।
प्रमुख गवाहों में फर्यादी पति व आरोपी पत्नी का बेटा, आस पड़ोस के लोग, आरोपी ने जिन लोगों के पास से मारने के लिये सामान खरीदा इन सब की गवाही महत्वपूर्ण रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.