राम मंदिर निर्माण स्थल पर जमीन में लगभग 2000 फीट नीचे एक टाइम कैप्सूल रखा जाएगा, जानिए क्या है माजरा?

राम मंदिर भूमि पूजन के लिए 5 अगस्त का दिन शुभ बताया गया है। इस दिन पीएम मोदी राम मंदिर निर्माण के लिए की पहली ईंट रखेंगे। भूमि पूजन के लिए अयोध्या में तैयारी शुरू हो चुकी है। लेकिन भूमि पूजन से पहले राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल का बड़ा बयान सामने आया है। कामेश्वर चौपाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि राम मंदिर निर्माण स्थल पर जमीन में लगभग 2000 फीट नीचे एक टाइम कैप्सूल रखा जाएगा।

कामेश्वर ने बताया कि ऐसध इसलिए किया जा रहा है कि अगर भविष्य में राम मंदिर के इतिहास के बारे में अध्ययन करना चाहता है, तो उसे सही तथ्य ही प्राप्त हो।

बता दें कि कल सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या का दौर कर तैयारियों का जायजा लिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कारसेवकपुरम में साधु-संतों के साथ बैठक की। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन का मुहूर्त पांच सौ साल के प्रयासों और तमाम संघर्षों के बाद आया है। यह सबसे अच्छा मुहूर्त है इसलिए अयोध्या में एक बार फिर से दीवाली मनाएं। उन्होंने संतों से कहा कि अयोध्या को त्रेतायुग की तरह सजाएं। सभी संत-महात्मा अपने-अपने स्थान पर चार अगस्त को अखंड रामायण का पाठ शुरू करें और पांच अगस्त को पूर्ण आहुति दें। मठ-मंदिरों में दीप जलाएं और सुंदरकांड का पाठ करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.