कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण मई में हवाई यात्रियों की संख्या में 63 प्रतिशत की बड़ी गिरावट

Rokthok Lekhani

null

Click to follow us on Google News

कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण मई में 21.15 लाख यात्रियों ने घरेलू मार्गो पर हवाई यात्रा की। यह संख्या अप्रैल में 57.25 लाख यात्रियों के मुकाबले 63 प्रतिशत कम है।

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मार्च 2021 में 78.22 लाख लोगों ने देश के भीतर हवाई यात्रा की। वही मई में कोविड-19 की दूसरी लहर से घरेलू हवाई यात्रा और विमानन क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ। डीजीसीए के मुताबिक़ विमानन कंपनी इंडिगो में 11.69 लाख यात्रियों ने सफर किया जो घरेलू स्तर पर हवाई यात्रा करने वाले कुल यात्रियों का 55.3 प्रतिशत है। इसके अलावा 1.99 लाख मुसाफिरों ने स्पाइसजेट से यात्रा की जो कुल घरेलू हवाई उड़ानों का 9.4 प्रतिशत है।

इसके अलावा एयर इंडिया से 4.29 लाख, गो फर्स्ट (पहले गोएयर) से 1.38 लाख, विस्तारा से 97 हजार और एयर एशिया से 64 हजार यात्रियों ने मई में सफर किया। छह बड़ी विमान सेवा कंपनियों का पैसेंजर लोड फैक्टर (पीएलएफ) यानी भरी सीटों का अनुपात मई में गिरावट लेकर 39.3 से 64 प्रतिशत के बीच रहा। किफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइस जेट का पीएलएफ मई में 64 प्रतिशत रह गया।

इसके बाद गोएयर का पीएलएफ 63.3 प्रतिशत, इंडिगो का 51.2 प्रतिशत, एयर एशिया इंडिया का 44.4 प्रतिशत, स्टार एयर का 41.2 प्रतिशत, विस्तार का 40.9 प्रतिशत और एयर इंडिया का 39.3 प्रतिशत रहा।

पिछले वर्ष दो महीने के कड़े लॉकडाउन के बाद 25 मई को घरेलू स्तर पर हवाई यात्रा को पचास प्रतिशत यात्रियों की अनुमति के साथ खोल दिया था।

डीजीसीए के अनुसार इंडिगो ने चार मेट्रो हवाईअड्डों – बेंगलुरु, दिल्ली, हैदराबाद और मुंबई में 98.7 प्रतिशत का सर्वश्रेष्ठ ऑन-टाइम प्रदर्शन किया। ऑन-टाइम प्रदर्शन मामले में विस्तार 98.1 प्रतिशत पर दूसरे और एयर एशिया 97.4 प्रतिशत के साथ तीसरे स्थान पर रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.