जर्मनी ने भारत समेत इन देशों से हटाए यात्रा प्रतिबंध


Rokthok Lekhani

ब्रिटेन : दुनिया में कोरोना महामारी के हालात लगातार सामान्य हो रहे हैं। ताजा खबर जर्मनी से आ रही है जहां भारत समेत कुछ अन्य देशों के यात्रियों पर लगे प्रतिबंध हटा लिए गए हैं। जर्मनी ने ब्रिटेन, पुर्तगाल और भारत सहित पांच देशों पर लगए प्रवेश प्रतिबंध हटा लिए हैं और यात्रा नियमों में ढील दी है।

अन्य देशों के नाम हैं- उत्तरी आयरलैंड, रूस, और नेपाल जिनको बुधवार से ‘वायरस वेरिएंट’ सूची से हटा दिया गया है। जिन लोग को टीके लगा चुके हैं, उन्हें क्वारंटाइन नहीं किया जाएगा। ऐसे यात्रियों को जर्मनी के लिए उड़ान भरने से पहले कोरोना टेस्ट की जरूरत नहीं होगी और वे टीकाकरण का अपना प्रमाण भी दिखा सकते हैं।

पाकिस्तान के साहिवाल जिले में पुलिस ने भारतीय टीवी चैनल के प्रसारण के आरोप में एक केबल टीवी आपरेटर को गिरफ्तार कर लिया। डान की रिपोर्ट के अनुसार, लोगों ने पाकिस्तान इलेक्ट्रानिक मीडिया रेगुलेटरी अथारिटी के इंस्पेक्टर सोहैल अनवर से शिकायत की थी कि सफीक साजिद भारतीय सिनेमा व ड्रामा चैनलों का प्रसारण कर रहा है। इसी सिलसिले में कामीर शहर से आपरेटर साजिद को गिरफ्तार कर लिया गया। पाकिस्तान में भारतीय टीवी शो व फिल्मों का प्रदर्शन प्रतिबंधित है।

असम राइफल्स ने भारत-म्यांमार सीमा पर स्थित मणिपुर के कामजोंग गांव से भारी मात्रा में हथियार जब्त किए हैं। एक बयान में असम राइफल्स के महानिरीक्षक ने कहा कि बहुत ही सुनियोजित तरीके से जवानों के एक दल ने छापेमारी करके चार जुलाई को गांव से भारी मात्रा में हथियारों की बरामदगी की। जब्त की गई सामग्री में दो स्मिथ एंड वेसन राइफल व चार मैगजीन, एक एके 47 राइफल के साथ दो मैगजीन व 210 राउंड गोलियां, दो ग्रेनेड, आठ डेटोनेटर आदि शामिल हैं।

ब्रिक्स के शिक्षा मंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता करेंगे संजय धोत्रे: शिक्षा, संचार तथा इलेक्ट्रानिक व सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री संजय धोत्रे मंगलवार को ब्रिक्स देशों के शिक्षा मंत्रियों की आठवीं बैठक की अध्यक्षता करेंगे। वर्चुअल तरीके से होने वाली यह बैठक ब्रिक्स के तेरहवें सम्मेलन का हिस्सा है, जिसकी मेजबानी भारत कर रहा है। इस बैठक के मद्देनजर दो जुलाई को ब्रिक्स देशों के वरिष्ठ शिक्षा अधिकारियों की मुलाकात हो चुकी है। ब्रिक्स में ब्राजील, रूस, भारत, चीन व दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने सोमवार को दावा किया कि लोकपाल विधेयक का मसौदा तैयार करने के दौरान जो उत्साह था, वह इसके क्रियान्वयन में नहीं है। मोइली ने एक डिजिटल कार्यक्रम में दावा किया, “लोकपाल पर पूरे देश में किस तरह की बहस देखने को मिली थी… इसके विधेयक को तैयार करने में जो उत्साह देखने को मिला था वह कानून के क्रियान्वयन में देखने को नहीं मिल पा रहा है। अब मीडिया भी लोकपाल के क्रियान्वयन पर खामोश है।” संप्रग सरकार के समय जब लोकपाल विधेयक पारित हुआ था उस वक्त मोइली कानून मंत्री थे।

Click to follow us on Google News
Click to Follow us on Google News

Click to Follow us on Daily Hunt

Leave a Reply

Your email address will not be published.