कद्दावर नेता गुलाम नबी आजाद की कांग्रेस महासचिव पद से छुट्‍टी

कांग्रेस (Congress) नेतृत्व में बदलाव को लेकर पिछले माह पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारक संस्था कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में मचे हंगामे के बाद संगठन में शुक्रवार को बड़ा बदलाव करते हुए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने 22 सदस्यीय नई कार्य समिति का गठन कर गुलाम नबी आज़ाद (Ghulam Nabi Azad) सहित 5 महासचिवों तथा 4 प्रदेश प्रभारी महासचिव हटा दिए है।

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि कार्यसमिति में श्रीमती गांधी सहित 22 सदस्य है जबकि 26 स्थायी आमंत्रित सदस्य और नौ विशेष आमंत्रित सदस्यों को शामिल किया गया है। आजाद ने हाल ही में 22 अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ संगठन में बदलाव की मांग की थी।

पार्टी ने 5 महासचिव गुलाम नबी आजाद, मोतीलाल वोरा, श्रीमती अंबिका सोनी, मलिकार्जुन खड़गे तथा एल फ्लोरियो की छुट्टी कर दी है। इसी तरह से प्रदेश प्रभारी नारायण सिंह, आशा कुमारी और गौरव गोगोई और रामचंद्र खूंटिया को भी हटा दिया गया है।

गुलाम नबी आजाद के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल, शशि थरूर, मनीष तिवारी सहित 23 नेताओं ने श्रीमती गांधी को पत्र लिखकर पार्टी नेतृत्व में बदलाव की मांग की थी। बागी तेवर अपनाने वाले कई वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी हुई है और इनमें सिर्फ आजाद को ही पहले की तरह कार्य समिति में जगह दी गई है।

वेणुगोपाल ने बताया कि नई कार्य समिति में श्रीमती गांधी के अलावा जिन अन्य सदस्यों को शामिल किया गया है, उनमें पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, एके एंटनी, अहमद पटेल, अंबिका सोनी, आनंद शर्मा, के सी वेणुगोपाल, हरीश रावत, मल्लिकार्जुन खड़गे, मुकुल वासनिक, अजय माकन, प्रियंका गांधी वाड्रा, पी चिदंबरम, जितेंद्र सिंह, तारिक अनवर, रणदीप सिंह सुरजेवाला, ओमन चांडी, गैखंगम, रघुवीर सिंह मीणा और तरुण गोगोई हैं।

उन्होंने बताया कि पार्टी में स्थायी आमंत्रित सदस्यों में दिग्विजय सिंह, मीरा कुमार, अधीर रंजन चौधरी, जयराम रमेश, अविनाश पांडे, के एच मुनियप्पा, प्रमोद तिवारी, तारिक़ हामिद कारा, पवन कुमार बंसल, श्रीमती रजनी पाटिल, पी एल पूनिया , आरपीएन सिंह, शक्ति सिंह गोहिल, राजीव सातव, राजीव शुक्ला, जितिन प्रसाद, दिनेश गुंडू राव, मणिकन टैगोर, डॉ सी कुमार एचके पाटिल, भक्तचरण दास, कुलजीत सिंह नागरा सहित 26 नेताओं को जगह दी गई है

कार्य समिति में नौ विशेष आमंत्रित सदस्य बनाये गए हैं जिनमें दीपेंद्र हुड्डा, कुलदीप बिश्नोई, चिंता मोहन, सचिन राव, सुष्मिता देव, ललित देसाई, जी संजीव रेड्डी, सचिन राव, नीरज कुमार और बीवी श्रीनिवास शामिल हैं। वेणुगोपाल ने बताया कि पार्टी ने कई राज्यों के प्रभारियों को बदला है और कई के दायित्व में बदलाव किया गया है। श्रीमती वाड्रा को दोबारा उत्तर प्रदेश के प्रभारी महासचिव की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

उन्होंने बताया कि मुकुल वासनिक को मध्यप्रदेश का प्रभारी बनाया गया है जबकि हरीश रावत को असम से हटाकर पंजाब का प्रभारी महासचिव बनाया गया है। ओमन चांडी को आंध्र प्रदेश, तारिक अनवर को केरल तथा लक्षदीप, सुरजेवाला को कर्नाटक, जितेंद्र सिंह को असम, अजय माकन को राजस्थान और वेणुगोपाल को फिर संगठन के महासचिव का दायित्व सौंपा गया है।

पार्टी ने प्रदेश प्रभारियों के दायित्व में जो बदलाव किया है उनमें पीके बंसल को प्रशासन का प्रभारी बनाया गया है जबकि रजनी पाटिल को जम्मू कश्मीर, पूनिया को छत्तीसगढ़, आरपीएन सिंह को झारखंड, गोहिल को बिहार के साथ ही दिल्ली, राजीव सातव को गुजरात के साथ ही दादर एवं नगर हवेली जितिन प्रसाद को पश्चिम बंगाल तथा अंडमान निकोबार द्वीप समूह, दिनेश गुंडू राव को तमिलनाडु, राजीव शुक्ला को हिमाचल प्रदेश, चेला कुमार को ओडिशा, एसके पाटिल को महाराष्ट्र, देवेंद्र यादव को उत्तराखंड, विवेक बंसल को हरियाणा, मनीष चतरथ को अरुणाचल प्रदेश, भक्त चरण दास को मिजोरम तथा कुलजीत सिंह नागरा को सिक्किम, नागालैंड और त्रिपुरा का नया प्रभारी बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.