प्राइवेट डॉक्टर सरकारी अस्पताल में करे काम, आदेश नहीं माना तो लाइसेंस होगा रद्द

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ रहे केस के बाद राज्य सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब मुंबई के सभी लाइसेंस प्राप्त डॉक्टरों (प्राइवेट) को कोविड ड्यूटी करने के लिए कहा गया है। अगर कोई भी डॉक्टर ड्यूटी करने से इनकार करता है तो उसका लाइसेंस कैंसिल कर दिया जाएगा। राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि कम से कम डॉक्टर्स को 15 दिन की ड्यूटी करनी होगी। हालांकि 55 साल से अधिका उम्र के डॉक्टरों को लिए इसमें छूट दी गई है।

आदेश नहीं मानने पर रद्द होगा लाइसेंस

राज्य सरकार ने ये सुविधा दी है कि 25,000 पंजीकृत डॉक्टर अपनी इच्छा और पसंद की जगह पर काम करने के बारे में बता सकते हैं। मुंबई में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं और मरीजों की कुल संख्या 10 हजार के करीब पहुंच गई है। अगर डॉक्टर्स ने आदेश नहीं माने तो उनके लाइसेंस रद्द किए जा सकते हैं।

मुंबई में 24 घंटे में 26 की मौत

मुंबई में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। बीते 24 घंटे में मुंबई में 26 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि 635 नए मरीज सामने आए हैं। मुंबई में कोरोना के मरीजों की संख्या करीब 10 हजार पहुंचने वाली है। कुल 387 मरीजों की जान जा चुकी है।

महाराष्ट्र में अब तक 617 लोगों की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, महाराष्ट्र में अबतक 15 हजार 525 संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। वहीं अबतक 617 लोगों की मौत हो चुकी हैं। राज्य में दो हजार 819 लोग ठीक हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.